भारतीय रेलवे का आधुनिकीकरण हर किसी के लिए एक जीत की स्थिति: अमिताभ कांत

नई दिल्ली: देश में प्राइवेट ट्रेनों (Private Train) का संचालन और निजी निवेश को लेकर गुरुवार को पत्रकार वार्ता का आयोजन किया गया. जिसमे जानकरी देते हुए नीति आयोग (NITI Aayog) के सीईओ अमिताभ कांत (Amitabh Kant) ने कहा, “यह देश में अपनी तरह की पहली पहल लाता है जहां भारतीय रेलवे (Indian Railway) के बुनियादी ढाँचे का उपयोग करते हुए, यात्री इकाइयाँ यात्री व्यवसाय के लिए आधुनिक प्रौद्योगिकी गाड़ियों का स्रोत और संचालन करेंगी.”

यात्रियों को अच्छा अनुभव को बढ़ाएगी 
अमिताभ कांत ने कहा, “भारतीय रेलवे का आधुनिकीकरण (Modernization) हर किसी के लिए एक जीत की स्थिति है! क्वालिटी ट्रेन सेवाएं, नई तकनीक और वैल्यू एडेड सेवाएं यूजर्स के अनुभव को बढ़ाएंगी.”

उन्होंने कहा, “हम 109 मूल गंतव्य रेल मार्गों को देख रहे हैं, जिन्हें 151 ट्रेनों की आवश्यकता वाले 12 समूहों में विभाजित किया गया है. उन्हें पारदर्शी प्रतिस्पर्धी बोली लगाने और कुछ सबसे आकर्षक मार्गों के लिए ले जाया जा रहा है, जो बहुत बड़ी मांग के आधार पर प्रीमियम यात्री सेवाओं को चलाने के लिए बाहर रखा जाएगा.”

30,000 करोड़ रुपये का निवेश 
नीति आयोग के सीईओ ने कहा, “जिस निजी क्षेत्र का निवेश हम देख रहे हैं, वह लगभग 30,000 करोड़ रुपये का है.” उन्होंने कहा, “उद्धरण के लिए टेंडर पहले ही मंगवाए जा चुके हैं और आवेदनों के लिए नियत तारीख 7 अक्टूबर, 2020 है. हमें बहुत विश्वास है कि यह भारत में रेलवे की आधुनिक तकनीक के लिए दुनिया भर से निवेश लाएगा.”