Omar Abdullah

    अयोध्या. जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला (Umar Abdullah) ने अयोध्या में कोविड-19 से संक्रमित एक स्कूली शिक्षक के परिवार की चिकित्सा सहायता मांगने की अपील को टि्वटर पर साझा किया।  राज्य में संक्रमण के मामले बढ़ने के कारण जीवनदायिनी गैस ऑक्सीजन की कमी हो गई है। फैजाबाद के भाजपा सांसद लल्लू सिंह ने माना कि जिले में ऑक्सीजन की कमी है। ‘डिस्ट्रिक्ट वुमेन्स हॉस्पिटल’ ने ऑक्सीजन की कमी के कारण मरीजों को भर्ती करने से रोक दिया है।

    अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक (CMS) डॉ. एसके शुक्ला ने कहा कि ऑक्सीजन की कमी के कारण अस्पताल में तीन मरीजों की मौत हो गई है। अब्दुल्ला ने अपने ट्वीट में आनंद पांडे (52) के परिवार का एक संदेश साझा किया है जिसमें उनके लिए ऑक्सीजन और अस्पताल में एक बिस्तर ढूंढने के लिए मदद मांगी गई है। जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री ने सोमवार को ट्वीट किया, ‘‘संदेश आगे बढ़ा रहा हूं : आदरणीय सर, अयोध्या में मरीज के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर और बिस्तर दिलाने में कृपया मदद कीजिए। मरीज का नाम आनंद पांडे, उम्र 52 साल है। घर का पता अयोध्या का है।

    ऑक्सीजन स्तर : 70 है। पुनीत से 8115013333 नंबर पर संपर्क करें।” पांडे के दामाद पुनीत ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि उनके ससुर कोविड-19 से संक्रमित पाए गए हैं और उनका ऑक्सीजन स्तर बहुत कम है। पुनीत ने कहा, ‘‘हमने अयोध्या में मेडिकल कॉलेज और सरकारी अस्पतालों से संपर्क किया लेकिन इन संस्थानों में ऑक्सीजन की कोई व्यवस्था नहीं है। हमने जनप्रतिनिधियों और प्रशासनिक अधिकारियों से भी बात की लेकिन किसी से कोई मदद नहीं मिली।” उन्होंने कहा, ‘‘हमें उचित इलाज नहीं मिल रहा है। मैं नेताओं से ऑक्सीजन के लिए लगातार मिन्नतें कर रहा हूं लेकिन मुझे खाली हाथ लौटना पड़ता है।”

    फैजाबाद के सांसद लल्लू सिंह से संपर्क करने पर उन्होंने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा कि उन्होंने मेडिकल ऑक्सीजन की कमी के संबंध में जिला मजिस्ट्रेट से बात की है। उन्होंने कहा, ‘‘ऑक्सीजन की भारी किल्लत है। मैंने जिला मजिस्ट्रेट से बात की है और हम ऑक्सीजन की व्यवस्था कराने की कोशिश कर रहे हैं।” डिस्ट्रिक्ट वुमेंस हॉस्पिटल के सीएमएस डॉ. एस के शुक्ला ने कहा कि अस्पताल ने ऑक्सीजन और ऑक्सीजन टैंक रेगूलेटर्स की कमी के कारण सोमवार को मरीजों को भर्ती करने से इनकार कर दिया है।

    उन्होंने कहा, ‘‘ऑक्सीजन की कमी के कारण तीन मरीजों की मौत हो गई है। ऐसी स्थिति में अपने मरीज को अपने जोखिम पर भर्ती कीजिए।” उन्होंने कहा, ‘‘अयोध्या जिले में कोविड-19 मरीजों के लिए 2,400 से अधिक बिस्तर हैं। बिस्तर हैं लेकिन पर्याप्त ऑक्सीजन रेगूलेटर्स नहीं हैं।”