yuvraj

  • पिता योगराज सिंह के विवादास्पद बयानों से खुद को किया अलग

 नयी दिल्ली. भारत की विश्व कप 2011 जीत के नायक पूर्व हरफनमौला युवराज (Yuvraj Singh) ने शनिवार को 39 साल के हो रहे हैं लेकिन अपना जन्मदिन मनाने की बजाय उन्होंने किसानों के मसलों का बातचीत के जरिये हल निकलने की उम्मीद जताई । युवराज ने लोगों से कोरोना (Corona)वायरस महामारी के दौरान एहतियात बरतने की भी अपील की। यही नहीं, युवराज ने अपने पिता योगराज सिंह के विवादास्पद बयानों से भी खुद को अलग कर लिया जो उन्होंने इस सप्ताह विरोध प्रदर्शन के दौरान दिये थे ।

युवराज ने किया ट्वीट:

युवराज ने ट्विटर पर लिखा ,‘‘ जन्मदिन कोई ख्वाहिश या इच्छा पूरी करने का मौका होता है लेकिन जन्मदिन मनाने की बजाय मैं प्रार्थना करता हूं कि हमारे किसानों और हमारी सरकार के बीच जारी बातचीत से इस मसले का कोई हल निकल आये ।” उन्होंने कहा ,‘‘ इसमें कोई शक नहीं कि किसान भारत की जीवनरेखा हैं और मेरा मानना है कि ऐसी कोई समस्या नहीं है जिसका शांतिपूर्ण संवाद से समाधान नहीं निकल सकता हो ।”

अपने पिता  योगराज सिंह के विवादास्पद बयानों से हुए अलग:

युवराज ने अपने पिता योगराज सिंह के विवादास्पद बयानों से भी खुद को अलग कर लिया जो उन्होंने इस सप्ताह विरोध प्रदर्शन के दौरान दिये थे । उन्होंने कहा ,‘‘ एक गौरवान्वित भारतीय होने के नाते मैं योगराज सिंह के बयानों से दुखी और निराश हूं । मैं स्पष्ट करना चाहता हूं कि ये उनकी व्यक्तिगत राय है और मैं उनके विचारों से इत्तेफाक नहीं रखता ।”

युवराज ने कहा ,‘‘ मैं सभी से आग्रह करता हूं कि कोरोना वायरस महामारी के बीच पूरी सावधानी रखें । महामारी अभी गई नहीं है और हमें इसे हराने के लिये एहतियात बरतनी ही होगी ।” उन्होंने आखिर में लिखा ,‘‘ जय जवान । जय किसान । जय हिंद ।” पंजाब और हरियाणा के हजारों किसान नये कृषि कानून के खिलाफ दिल्ली की सीमा पर डेरा डाले हुए हैं । उनका दावा है कि न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) व्यवस्था खत्म होने से वे बड़े कारपोरेट समूहों के मोहताज हो जायेंगे । किसानों के समर्थन में खेल रत्न पुरस्कार विजेता मुक्केबाज और कांग्रेस के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ चुके विजेंदर सिंह ने राष्ट्रीय पुरस्कार वापिस करने की धमकी दी है ।