One lakh more patients recovered from the number of patients under covid-19: Health Ministry

नई दिल्ली. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को बताया कि कोविड-19 से संक्रमित उपचाराधीन मरीजों और स्वस्थ होने वाले मरीजों के बीच का अंतर 1,00,000 के पार चला गया है। देश में कोरोना वायरस के मामले बढ़कर 5,28,859 हो गए हैं और मृतकों की संख्या 16,095 पर पहुंच गई है। मंत्रालय ने बताया कि शनिवार तक स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या इलाजरत मरीजों की तुलना में 1,06,661 तक अधिक हो गई है। उसने बताया कि अभी तक कोविड-19 के 3,09,712 मरीज स्वस्थ हुए हैं जिनमें से 13,832 मरीज पिछले 24 घंटों में स्वस्थ हुए हैं।

मंत्रालय ने बताया, ‘‘कोविड-19 मरीजों में स्वस्थ होने की दर 58.56 प्रतिशत है।” उसने एक बयान में कहा, ‘‘कोविड-19 की रोकथाम और प्रबंधन के लिए राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के साथ ही भारत सरकार द्वारा उठाए गए सक्रिय कदमों के प्रेरणादायक नतीजे मिल रहे हैं।” उसने बताया कि अब भी 2,03,051 संक्रमित मरीजों का इलाज चल रहा हैं और सभी चिकित्सा निगरानी में हैं। भारत में अब कोविड-19 की जांच के लिए 1,036 प्रयोगशालाएं हैं। इनमें से 749 सरकारी और 287 निजी प्रयोगशालाएं हैं।

बयान में कहा गया है, ‘‘रोज 2,00,000 से अधिक नमूनों की जांच की जा रही है। पिछले 24 घंटों में 2,31,095 नमूनों की जांच की गई। अभी तक 82,27,802 नमूनों की जांच की जा चुकी है।” इसमें कहा गया है कि 28 जून तक कोविड संबंधित स्वास्थ्य बुनियादी ढांचा मजबूत किए जाने के तहत 1,055 कोविड अस्पतालों में 1,77,529 पृथक बिस्तर लगाए गए, 23,168 आईसीयू बिस्तर और 78,060 ऑक्सीजन सुविधा वाले बिस्तर लगाए गए।”

मंत्रालय ने बताया कि 2,400 कोविड स्वास्थ्य केंद्रों में 1,40,099 पृथक बिस्तर, 11,508 आईसीयू बिस्तर और 51,371 ऑक्सीजन युक्त बिस्तर उपलब्ध हैं। इसके अलावा 9,519 कोविड देखभाल केंद्रों में देश में इस महामारी से लड़ने के लिए अभी 8,34,128 बिस्तर उपलब्ध हैं। केंद्र ने राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों और केंद्रीय संस्थानों को एक करोड़ 87 लाख से ज्यादा एन95 मास्क और एक करोड़ 16 लाख से ज्यादा निजी सुरक्षा उपकरण (पीपीई) भी मुहैया कराए हैं।(एजेंसी)