सावधान! आपका ही SIM खाली कर सकता है आपका बैंक अकाउंट, न करें ये काम

    नई दिल्ली. ऑनलाइन बैंकिंग (Online Banking) के फायदे हैं तो नुकसान भी है। बैंक अकाउंट (Bank Account) और वॉलेट से पैसे गायब होने के मामले दिन ब दिन बढ़ते जा रहे हैं। क्या आप जानते हैं  सिम स्वैप (SIM Swap) का इस्तेमाल कर के आप का पूरा अकाउंट खाली किया जा सकता है। ऐसे में आपको बहुत ही सावधानी से इंटरनेट का इस्तेमाल करना होगा।     

    मोबाइल फोन ऑनलाइन बैंकिंग के लिए जरुरी हिस्सा बन गया है। बैंक से जुड़ा हर काम आज कल घर बैठे ही आसानी से किया जा सकता है। मोबाइल पर उनके अकाउंट, बैलेंस और ट्रांजेक्शन के बारे में सभी जानकारी मिल जाती है। इसके अलावा ओटीपी के लिए भी मोबाइल नंबर का इस्तेमाल किया जाता है। ऐसे में फ्रॉड करने वाले लोग सिम स्वैप कर लेते हैं। इसके अलावा मोबाइल सर्विस प्रोवाइडर के जरिए आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर के लिए नया सिम कार्ड इश्यू करा लेते हैं।

    कैसे करते  हैं फ्रॉड ?

    • लोग फिशिंग या मालवेयर सॉफ्टवेयर (Malware Software) के जरिए बैंकिंग अकाउंट की डिटेल्स चोरी कर लेते हैं।
    • इसके अलावा आपको फेक कॉल करके भी धोखाधड़ी करते हैं।
    •  मोबाइल फोन खोने, नया फोन या टूटे हुए सिम कार्ड का झूठा बहाना देकर भी लोग बात करते हैं।
    • कस्टमर वेरिफिकेशन के बाद वो आपके पुराने सिम को डिएक्टिवेट कर देते हैं और फ्रॉड करने वाले व्यक्ति को नया सिम कार्ड जारी करता है।
    • नया सिम जारी हो जाने के बाद ग्राहकों के फोन में कोई नेटवर्क नहीं होगा।
    • अब ग्राहक को फोन पर कोई एसएमएस, जानकारी जैसे अलर्ट, OTP, URN आदि नहीं मिलेंगे।

    ऐसे बचें सिम स्वैप से 

    यदि आपको कोई  कॉल या फिर एसएमएस का नोटिफिकेशन नहीं आ रहा तो आप तुरंत मोबाइल ऑपरेटर से बात करें। जिससे आप जान पाएंगे कि, आपके साथ कुछ धोखधड़ी तो नहीं हुई है। साथ ही कुछ मोबाइल नेटवर्क ऑपरेटर और ग्राहक सिम स्वैप के बारे में अलर्ट करने के लिए ग्राहकों को अलर्ट भेजते हैं। जिसपर आप तुरंत कार्रवाही और मोबाइल ऑपरेटर के साथ संपर्क करके इस फ्रॉड को रोका जा सकता है।