पाकिस्तान कहे तो चीन से उसके लोगों को भी निकाल लाएगे: विदेश मंत्रालय

नई दिल्ली: चीन में कोरोना वायरस भव्य रूप ले चूका है. कई देशो के नागरिक चीन छोड़ कर अपने देश लौट रहे है. भारत स्पेशल फ्लाइट के जरिए चीन से अपने लोगों को के साथ अन्य देशों के लोगों को चीन से निकाल रहा

नई दिल्ली: चीन में कोरोना वायरस भव्य रूप ले चूका है. कई देशो के नागरिक चीन छोड़ कर अपने देश लौट रहे है. भारत स्पेशल फ्लाइट के जरिए चीन से अपने लोगों को के साथ अन्य देशों के लोगों को चीन से निकाल रहा है. पड़ोसी देश पाकिस्तान के नागरिक वुहान में फसे हुए है. जिसपर पर गुरुवार को विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रविश कुमार ने कहा, " अगर पाकिस्तान कहे तो भारत वह फसे पाकिस्तानी नागरिकों निकला सकता है." 

बतादे कि, चीन से पाकिस्तानी नागरिक और छात्रों का विडियो सामने आया था जिसमे वह लोग अपनी सरकार से उन्हें तुरंत निकालने का आग्रह कर रहे थे. जिसपर किए गए सवाल पर रविश कुमार ने कहा, " अभी तक पाकिस्तान से एसा कोई अनुरोध नही आया है. अगर परिस्तिथि निर्माण होती है और हमारे पास संसाधन मौजूद होगे तो हम इसपर जरुर विचार करेगे." चीन के वुहान में फसे छात्रों ने वीडियो जारी कर अपनी सरकार पर कई सवाल खड़े किए थे. इसके साथ अपनी सरकार को भारत से सिखने की सलाह भी दी थी. 

कोरोनावायरस पर जानकारी देते हुए रविश ने कहा, " दो विशेष विमानों के जरिए हमने 640 भारतीय नागरिकों और सात मालदीव के नागरिकों को चीन से निकालने में सफलता प्राप्त की है। उन्होंने कहा, " यह एक जटिल ऑपरेशन था और इस दौरान चीन सरकार द्वारा दिए गए समर्थन और सुविधा के लिए हम उनका धन्यवाद कहते है." 

चीन के ई-वीजा रद्द 
विदेश मंत्रालय ने कहा, "दुनिया के किसी भी कोने में रह रहे चीनी नागरिक को जारी ई-वीजा अब मान्य नहीं हैं. वही जो सामान्य वीजा जारी किए गए हैं, वे भी अधिक समय तक वैध नहीं रहेंगे। जिनके पास भारत आने के लिए खास कारण हैं, वो वीजा के लिए आवेदन करने के लिए हमारे दूतावास या निकटतम वाणिज्य दूतावास से संपर्क कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि,"मौजूदा वीजा प्रतिबंध केवल चीनी लोगों पर लागू होते हैं."