Air India

मुंबई. एयर इंडिया (Air India) के पायलट निकायों आईपीजी और आईसीपीए ने अपने सदस्यों को एयरलाइन के विनिवेश प्रक्रिया में भाग नहीं लेने की शनिवार को सलाह दी। दोनों ने कहा कि प्रबंधन ने अभी भी अनुचित वेतन कटौती पर चिताएं दूर नहीं की है।

इंडियन पायलट्स गिल्ड (IPG) और इंडियन कॉमर्सियल पायलट्स एसोसिएशन (ICPA) ने संयुक्त संदेश में सदस्यों से कहा कि अन्य विमानन कंपनियों ने पायलटों के वेतन बढ़ा दिया है, लेकिन एयर इंडिया ने अभी तक ऐसा नहीं किया है। यह संदेश ऐसे समय आया है, जब खबरें आ रही हैं कि एयर इंडिया के कर्मचारी एक निजी इक्विटी कंपनी के साथ मिलकर नीलामी में बोली लगाने की तैयारी कर रहे हैं। इसके लिये कर्मचारियों को एक-एक लाख रुपये देने को कहा गया है।

एयर इंडिया और उसकी पूर्ण स्वामित्व वाली अनुषंगी एयर इंडिया एक्सप्रेस की विनिवेश प्रक्रिया इस साल जनवरी में शुरू हुई है। इसके लिये बोली लगाने की आखिरी तारीख 14 दिसंबर है।