modi

नयी दिल्ली. आज संविधान दिवस पर PM मोदी  संबोधन कर रहे हैं. आइये सुनें उनका भाषण.

क्या कह रहे हैं PM मोदी: 

  • PM मोदी ने कहा कि, अब हर संस्था के लिए कर्तव्य का पालन बेहद जरूरी हो गया है.
  • PM मोदी ने कहा कि, अब हमें पूरी तरह से डिजिटलकरण की ओर बढ़ना होगा और कागज के इस्तेमाल को बंद करना पड़ेगा. आजादी के 75 साल को देखते हुए अब हमें खुद टारगेट तय करना चाहिए.
  • PM मोदी ने कहा कि, आज संविधान को जानना हर नागरिक के लिए सबसे जरुरी है. 
  • PM मोदी ने कहा कि, संविधान में कर्तव्यों को अब सबसे ज्यादा बल दिया गया है. 
  • PM मोदी ने कहा कि, ‘वन नेशन वन इलेक्शन’ अब देश की जरुरत बन गया है. 
  • PM मोदी ने कहा कि, संविधान की रक्षा में न्यायपालिका की काफी बड़ी भूमिका रही है. लेकिन 70 के दशक में इसे भंग करने की कोशिश की गई थी, फिर संविधान ने ही इसका जवाब दिया. इमरजेंसी के दौर के बाद सिस्टम मजबूत भी होता गया, उससे हमें काफी भी कुछ सीखने को मिला है. 
  • PM मोदी ने कहा कि, 2008 में पाकिस्तान से आए आतंकियों ने मुंबई पर धावा बोला था, इस हमले में कई लोगों की जान भी चली गई थी. लेकिन आज का भारत नई नीति-रीति के साथ आतंकवाद का सामना कर रहा है. 
  • PM मोदी ने कहा कि, यह जरुर सच है कि पहले के दौर के बड़े कर्तव्यों को भुला दिया गया था.
  • PM मोदी ने कहा कि, विकास को सर्वोच्च प्राथमिकता देना ही हमारा लक्ष्य होना चाहिए.
  • PM मोदी ने कहा कि, देश के गौरव से बढ़कर कुछ भी नहीं होता है.
  • PM मोदी ने कहा कि, नई नीति, नई रीति के साथ आतंकवाद का मुकाबला करना होगा.
  • PM मोदी ने कहा कि, स्पीकर संविधान की सुरक्षा के कवच का प्रहरी होता है.
  • PM मोदी ने कहा कि,राष्ट्रहित ही हमारा तराजू होना चाहिए. 
  • PM मोदी ने कहा कि, हमारा  संविधान हमारा मार्गदर्शन करता है.