pm-modi-to-lay-foundation-of-new-parliament-building-today-live | PM मोदी ने रखी नए 'संसद भवन' की नींव, बोले- आज का दिन ऐतिहासिक | Navabharat (नवभारत)
ट्रेंडिंग टॉपिक्स
ब्रैकिंग न्यूज़
लाईव ब्लॉग
अंतिम अपडेट3 महीने पहले

PM मोदी ने रखी नए ‘संसद भवन’ की नींव, बोले- आज का दिन ऐतिहासिक

ऑटो अपडेट
द्वारा- Rahul Goswami
कंटेन्ट राइटर
15:00 PMDec 10, 2020

PM मोदी: हमें संकल्प लेना होगा India First का

14:49 PMDec 10, 2020

और क्या कहा PM मोदी ने

14:45 PMDec 10, 2020

भारत का लोकतंत्र से हमेशा रहा एक पुराना रिश्ता

PM मोदी ने बताया कि,  आज देश में हमारा लोकतंत्र क्यों सफल है. दुनिया में 13वीं शताब्दी में मैग्नाकार्टा से पहले ही 12वीं शताब्दी में भगवान बसवेश्वर ने लोकसंसद की शुरुआत कर दी थी." PM मोदी ने  बताया कि, "दसवीं शताब्दी में तमिलनाडु के एक गांव में पंचायत व्यवस्था का वर्णन है. उस गांव में आज भी वैसे ही महासभा लगती है, जो एक हजार साल से जारी है. तब भी नियम था कि अगर कोई प्रतिनिधि अपनी संपत्ति का ब्यौरा नहीं देगा तो वो और उसके रिश्तेदार चुनाव नहीं लड़ पाएंगे." 

 

14:28 PMDec 10, 2020

क्या-क्या कहा अब तक PM मोदी ने

14:19 PMDec 10, 2020

PM मोदी: इस संसद भवन ने कई ख़ास मौके देखे

PM मोदी ने यह भी कहा कि, "मैं वो पल कभी नहीं भूल सकता, जब मैं पहली बार 2014 में संसद भवन में आया था तब मैंने सिर झुकाकर नमन किया था. मौजूदा संसद भवन ने आजादी का आंदोलन, स्वतंत्र भारत, आजाद सरकार की पहली सरकार, पहली संसद, संविधान आदि कई मील के पत्थर देखे हैं.

14:17 PMDec 10, 2020

PM मोदी ने शुरू किया पाना संबोधन

आज PM मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि, " आज का दिन बड़ा ऐतिहासिक है और मील का पत्थर साबित होगा. देश में अब भारतीयता के विचारों के साथ नई संसद भी बनने जा रही है, हम देशवासी मिलकर संसद के इस नए भवन को बनाएंगे. जब भारत अपनी आजादी के 75वें साल का जश्न मनाएगा, तब संसद की यह इमारत उसकी प्रेरणा होगी."

13:56 PMDec 10, 2020

हरदीप पुरी ने किया सम्बोधन

केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी ने आज अपने संबोधन में कहा कि आज का दिन भारत ही नहीं बल्कि दुनिया के इतिहास में बहुत ही अहम है. हिंदुस्तान में गणतंत्र और लोकतंत्र बहुत लंबे वक्त से स्थापित है. 

13:39 PMDec 10, 2020

विभिन्न बड़े विदेशी राजनयिक हुए डिजिटली शामिल

13:28 PMDec 10, 2020

आज हुई सर्वधर्म प्रार्थना

PM नरेंद्र मोदी ने आज गुरुवार को नए संसद भवन की आधारशिला रखी. इस दौरान एक सर्वधर्म प्रार्थना भी की गई, इसमें हिन्दू, सिख, ईसाई, मुस्लिम, बौद्ध, जैन एवं अन्य धर्मों के धर्मगुरु भी मौजूद थे, जिन्होंने यह प्रार्थना की. 

13:20 PMDec 10, 2020

कार्यक्रम में मौजूद हैं कई ख़ास मेहमान

Load More

नयी दिल्ली. आज विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र के मंदिर ‘संसद भवन’ (Parliament House) के लिए एतिहासिक दिन है। आज देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) संसद की नई बिल्डिंग का भूमिपूजन करेंगे, जो 2022 में बनकर खड़ी होगी। ख़बरों के अनुसार आज दोपहर 1 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) इस कार्य का भूमिपूजन करेंगे करेंगे। इस प्रोजेक्ट पर 865 करोड़ रुपए का विशाल बजट भी रखा गया है।इस प्रोजेक्ट का का नाम ‘सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट’ नाम दिया गया है।

गौरतलब है कि लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने इसके पहले बताया था कि नए संसद भवन का भूमिपूजन आने वाले 10 दिसंबर को दोपहर 1 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किया जाएगा। ओम बिरला ने खुद PM मोदी के आवास पर पहुंचउन्हें भूमि पूजन कार्यक्रम में मुख्य अतिथि बनने के लिए आमंत्रित भी किया था ।

इधर नए पार्लियामेंट हाउस की डिजाइन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी राय रखते हुए कहा था कि नया परिसर कामकाजी लोगों और आम लोगों के इस्तेमाल के लिए आसान होना चाहिए और संसद की सभी जरूरतों को पूरा करने वाली हो। उनका यह भी कहना था कि सुरक्षा के इंतजाम भी ऐसे किये जाएँ कि आम लोग भी बिल्डिंग में आसानी से प्रवेश ले  सकें और उन्हें डर का एहसास भी न हो।

 

OK

We use cookies on our website to provide you with the best possible user experience. By continuing to use our website or services, you agree to their use.   More Information.