modi

नयी दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (NarendraModi) ने आगामी त्योहारों और ठंड के मौसम के मद्देनजर बृहस्पतिवार को कोविड-19 से निपटने के लिए लोगों को ‘जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं ‘ का मंत्र देते हुए ट्विटर (Tweeter) पर एक ‘‘जन आंदोलन” की शुरुआत की। उन्होंने लोगों से कोरोना संक्रमण के खिलाफ संघर्ष में एकजुट होने की अपील करते हुए कहा कि जब तक कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए कोई टीका नहीं बन जाता तब तक उन्हें हर सावधानी बरतनी है और तनिक भी ढिलाई नहीं करनी है। उन्होंने हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में ट्वीट कर कहा, ‘‘आइए, कोरोना से लड़ने के लिए एकजुट हों! हमेशा याद रखें: मास्क जरूर पहनें। हाथ साफ करते रहें। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।‘दो गज की दूरी’ रखें।”

उन्होंने कहा, ‘‘जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं।” मोदी ने कोरोना वायरस से बचाव संबंधी संदेशों के साथ तस्वीरें भी साझा कीं। इनमें वह मास्क के बजाय गमछा बांधे हुए हैं और हाथ जोड़कर लोगों से बचाव का आग्रह करते दिख रहे हैं। अभियान को धार देने के लिए उन्होंने ‘‘यूनाइट टू फाइट कोरोना” हैशटैग का भी उपयोग किया। कुछ ही घंटों बाद यह हैशटैग टॉप पांच में ट्रेंड करने लगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि हम सब मिलकर कोरोना वायरस के खिलाफ सफलता हासिल करेंगे और इस लड़ाई को जीतेंगे।

उन्होंने कहा कि कोविड-19 के खिलाफ भारत की लड़ाई लोगों द्वारा लड़ी जा रही है जिसे कोरोना योद्धाओं से मजबूती मिली है। उन्होंने कहा, ‘‘हमारे सामूहिक प्रयासों ने कई जिंदगियां बचाने में मदद की है। हमें इस गति को बरकरार रखना है और इस वायरस से नागरिकों की रक्षा करनी है।” मालूम हो कि सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने बुधवार को घोषणा की थी कि प्रधानमंत्री मोदी कोविड-19 से निपटने के लिए समुचित व्‍यवहार के बारे में बृहस्पतिवार को ट्विटर पर ‘‘जन आंदोलन” अभियान शुरू करेंगे।

प्रधानमंत्री के ट्वीट करने के तुरंत बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर सहित कई केंद्रीय मंत्रियों और भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा सहित पार्टी के अन्य नेताओं ने इस अभियान से जुड़ते हुए लोगों से कोरोना से बचाव के लिए मास्क पहनने, उचित दूरी का पालन करने और लगातार हाथ धोने की अपील की। राजनाथ सिंह ने ट्वीट किया, ‘‘कोरोना से लड़ने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को एकजुट करते हुए हमेशा प्रेरणा दी है। आज उन्होंने पुनः यह याद दिलाया है कि नियमित रूप से हाथ की सफ़ाई का ध्यान रखना है, मुंह को ढंक कर रखना है और दो गज की दूरी, है बहुत ज़रूरी। इनका अवश्य पालन करें।” शाह ने कहा कि कोरोना जैसी वैश्विक महामारी से तभी लड़ा जा सकता है जब समस्त देशवासी एक साथ आयें।

उन्होंने अपील की, ‘‘आइए हम सब मिलकर नरेंद्र मोदी द्वारा कोरोना के विरुद्ध चलाए जा रहे इस जनआंदोलन से जुड़े और सभी को इस महामारी के प्रति जागरूक कर कोरोना मुक्त भारत बनाने में एक अहम भूमिका निभाए।” जावड़ेकर ने एक के बाद एक अलग-अलग भाषाओं में ट्वीट कर लोगों से इस जन आंदोलन से जुड़ने और सुरक्षा के उपायों का पालन करने की अपील की। भाजपा अध्यक्ष नड्डा ने इस आहृवान के लिए प्रधानमंत्री का आभार जताया और कहा, ‘‘ हम सभी आपके द्वारा शुरू किए आंदोलन को सफल बनाने में पूरी तन्मयता से साथ हैं और इसे अपनी जिम्मेदारी समझते हुए इन आवश्यक बातों का पालन कर भारत की जीत के भागीदार बनेंगे।” केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने ट्वीट कर कहा कि कोरोना महामारी से लड़ाई अभी जारी रखना है। ‘‘जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं। मास्क पहने दो गज की दूरी रखें हाथ को धोना न भूलें।”

उन्होंने इस ट्वीट के साथ ही एक वीडियो संदेश भी जारी किया और लोगों से बचाव के उपायों का पालन करने का आग्रह किया। गौरतलब है कि कोविड-19 के 78,524 नए मामले सामने आने के बाद बृहस्पतिवार को देश में संक्रमितों की कुल संख्या 68 लाख से अधिक हो गई। वहीं, संक्रमण से अब तक 58,27,704 लोग उबर चुके हैं। इसके साथ देश में मरीजों के ठीक होने की दर बढ़कर 85.25 प्रतिशत पर पहुंच गई है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सुबह आठ बजे जारी अद्यतन आंकड़ों के अनुसार देश में अभी तक कोविड-19 के 68,35,655 मामले सामने आ चुके हैं। वहीं पिछले 24 घंटे में 971 और लोगों की संक्रमण से मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 1,05,526 हो गई है।