Modi

नई दिल्ली: लोकसभा में कृषि विधेयक (Agriculture Bill) पास होने को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने ऐतिहासिक बताया. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, “लोकसभा में ऐतिहासिक कृषि सुधार विधेयकों का पारित होना देश के किसानों और कृषि क्षेत्र के लिए एक महत्वपूर्ण क्षण है. ये विधेयक सही मायने में किसानों को बिचौलियों और तमाम अवरोधों से मुक्त करेंगे.” इस दौरान प्रधानमंत्री ने हसटैग जय किसान का भी इस्तेमाल किया.” 

प्रधानमंत्री ने कहा, “इस कृषि सुधार से किसानों को अपनी उपज बेचने के लिए नए-नए अवसर मिलेंगे, जिससे उनका मुनाफा बढ़ेगा. इससे हमारे कृषि क्षेत्र को जहां आधुनिक टेक्नोलॉजी का लाभ मिलेगा, वहीं अन्नदाता सशक्त होंगे.”

किसानों को भ्रमित करने में बहुत सारी शक्तियां लगी हुई
पीएम मोदी ने कहा, “किसानों को भ्रमित करने में बहुत सारी शक्तियां लगी हुई हैं. मैं अपने किसान भाइयों और बहनों को आश्वस्त करता हूं कि MSP और सरकारी खरीद की व्यवस्था बनी रहेगी. ये विधेयक वास्तव में किसानों को कई और विकल्प प्रदान कर उन्हें सही मायने में सशक्त करने वाले हैं.” 

विपक्षी दलों ने किया विरोध 
केंद्र सरकार ने गुरुवार को लोकसभा में कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्द्धन और सुविधा) विधेयक-2020 ((Agricultural Produce Trade and Agriculture (Promotion and Facilitation) Bill-2020) और कृषक (सशक्तिकरण एवं संरक्षण) (Farmers (Empowerment and Protection) पेश किया है. जिसका कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी दलों ने ज़ोरदार विरोध किया. विपक्ष के साथ-साथ सहयोगी पार्टी शिरोमणि अकाली दल ने सदन में बिल का ज़ोरदार विरोध किया. पार्टी कोटे से केंद्र में मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने विरोध में मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया. 

कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में हमेशा ऐसे सुधारों का किया उल्लेख
बिल के पास होने के बाद बाहर निकले केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कांग्रेस पर हमला किया. उन्होंने कहा, “कांग्रेस ने अपने चुनाव घोषणापत्र में हमेशा ऐसे सुधारों का उल्लेख किया है, लेकिन उन्हें आगे बढ़ाने का साहस कभी नहीं किया. मोदी जी ने किसानों को मुक्त किया है, इसके लिए मैं सभी को बधाई देता हूं.”