sushil-kumar

    नयी दिल्ली.  दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने आपराधिक मामलों का सामना कर रहे पहलवान सुशील कुमार (Sushil Kumar0 और कारोबारी नवनीत कालरा (Navneet Kalra) के हथियार लाइसेंस निलंबित कर दिए हैं। अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि उनके लाइसेंस सोमवार को निलंबित कर दिए गए थे और पुलिस उन्हें रद्द करने की कार्रवाई कर रही है। संयुक्त पुलिस आयुक्त (लाइसेंसिंग) ओपी मिश्रा ने कहा, ‘‘हमने कुमार और कालरा के हथियार लाइसेंस तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिए हैं। उनके लाइसेंस रद्द करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। उन्हें नोटिस जारी करके यह बताने को कहा गया है कि उनके लाइसेंस रद्द क्यों नहीं किए जाने चाहिए।”

    मिश्रा ने कहा, ‘‘हमने उनके खिलाफ हाल में दर्ज आपराधिक मामलों में संबंधित जांच एजेंसी और स्थानीय पुलिस की रिपोर्ट के आधार पर यह कार्रवाई की है।” कुमार और उनके साथियों ने यहां छत्रसाल स्टेडियम में चार और पांच मई की बीच रात को पहलवान सागर धनखड़ और उसके दो दोस्तों सोनू और अमित कुमार पर कथित तौर पर हमला कर दिया था। बाद में चोटों के कारण सागर की मौत हो गई थी। कुमार को सह-आरोपी अजय के साथ 23 मई को बाहरी दिल्ली के मुंडका से गिरफ्तार किया गया था। दो बार ओलंपिक पदक जीत चुके कुमार इससे पहले करीब तीन हफ्तों तक फरार रहे।

    पुलिस ने बताया कि इस मामले में अब तक नौ लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। दिल्ली पुलिस ने ऑक्सीजन सांद्रक काला बाजारी मामले में कालरा को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने कालरा के टाउन हॉल, खान चाचा और नेग एंड जू रेस्तरां पर छापेमारी में 524 ऑक्सीजन सांद्रक जब्त किए थे, जोकि कोविड-19 मरीजों के लिए बेहद आवश्यक मेडिकल उपकरण है। दिल्ली की एक अदालत ने कालरा की जमानत शनिवार को मंजूर कर ली थी। पुलिस ने दावा किया कि ऑक्सीजन सांद्रक चीन से मंगाए गए और इन्हें इनकी कीमत 16,000 से 22,000 रुपये से कहीं ऊंचे दामों पर 50,000 से 70,000 रुपये में बेचा गया।