ओडिशा : विधानसभा में BJP विधायक सुभाष चंद्र पाणिग्रही ने सैनिटाइजर पीकर की खुदकुशी की कोशिश, जानें वजह

    भुवनेश्वर. ओडिशा विधानसभा में बजट सत्र (Odisha Assembly) के दूसरे चरण की शुरुआत में काफी गरमागरमी देखने को मिली। शुक्रवार को विपक्षी पार्टी बीजेपी और कांग्रेस ने राज्य सरकार पर किसानों से धान की खरीद में अनियमितता का आरोप लगाते हुए सदन में जमकर हंगामा किया। इसी दौरान भारतीय जनता पार्टी के विधायक सुभाष चंद्र पाणिग्रही (Subash Chandra Panigrahi) ने सदन में ही सैनिटाइजर (Sanitiser) पीकर खुदकुशी करने की कोशिश की। 

    उन्होंने सदन में यह कदम तब उठाया जब राज्य के फूड सप्लाई और कंज्यूमर वेलफेयर मंत्री रनेंद्र प्रताप स्वैन (Ranendra Pratap Swain) सदन में सवालों के जवाब दे रहे थे। रनेंद्र प्रताप स्वैन इस घटनाक्रम से पहले कहा कि, सरकार किसानों के धान की खरीद के लिए सभी उचित कदम उठा रही है। उन्होंने विधायकों से ऐसे किसानों की लिस्ट मुहैया करने को कहा, जो अपनी खरीफ फसल बेचने से वंचित रह गए हैं। दरअसल सुभाष चंद्र पाणिग्रही ने पहले भी दो बार आत्महत्या की चेतावनी दे चुके थे। आखिरकार उन्होंने मंडी से किसानों के धान की खरीद के मसले पर ध्यान केंद्रित करने के लिए यह कदम उठाया।

    बाद में मीडिया से बात करते हुए पाणिग्रही ने कहा, ‘मैंने सैनिटाइजर पीने की कोशिश इसलिए की क्योंकि राज्य सरकार ने मेरे सामने और कोई विकल्प नहीं छोड़ा है। किसानों का मुद्दा सदन में बार-बार उठाया गया, लेकिन राज्य सरकार ने उनकी दुर्दशा पर कोई ध्यान नहीं दिया।’ पाणिग्रही ने आरोप लगाया कि सरकार टोकन सिस्टम और मंडियों में कुव्यवस्था जैसे किसानों से जुड़े मुद्दों को हल करने में विफल रही है। इससे पहले सुबह बीजेपी विधायक ने राज्य सरकार पर दबाव बनाने के लिए आत्महत्या करने की धमकी दी थी। वहीं, बजट सत्र के पहले चरण के दौरान उन्होंने सदन में विरोध प्रदर्शन किया था और किसानों से जल्द धान की खरीद नहीं करने पर आत्मदाह की धमकी भी दी थी।

    गौरतलब है कि जिसके बाद सदन में धान की खरीद के मुद्दे पर जमकर हंगामा हुआ। बीजेपी और कांग्रेस के विधायकों ने सदन में इस मसले पर राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। प्रश्नकाल शुरू होने के साथ ही दोनों पार्टियों ने जमकर हंगामा किया। इस दौरान सदन की कार्यवाही स्थगित भी करनी पड़ी।