Prakash Javadekar

नई दिल्ली: कृषि विधेयक (Agriculture Bill) के विरोध को लेकर आज कांग्रेस (Congress) समेत कई विपक्षी दलों ने भारत का बंद बुलाया है. कांग्रेस लगातार सरकार पर किसानों को इस विधेयक से ख़त्म करने का आरोप लगा रही है. विधेयक के विरोध को लेकर केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Praksh Jawadekar) ने कांग्रेस पर हमला किया है. उन्होंने कहा, “कांग्रेस के घोषणापत्र में ही एपीएमसी के बाहर कृषि उपज की बिक्री की कल्पना की गई थी. हमने भी यही वादा किया था. अब जब से हमने अपना वादा पूरा कर दिया है, तब से हम कैसे गलत हैं। यह कांग्रेस द्वारा किया जा रहा का पाखंड है.”

ज्ञात हो कि कृषि विधेयक के विरोध में 30 किसान संगठनों ने आज भारत बंद बुलाया था. इस बंद को कांग्रेस, शिअद समेत तमाम विपक्षी दलों ने बंद इस बंद को अपना समर्थन दिया है. बंद के दौरान पंजाब-हरियाणा में किसानों ने रेल और रास्ता रोको आंदोलन किया। इस दौरान सड़क और रेल सेवा बधित रही. प्रदर्शन के दौरान सभी ने सरकार को इस विधेयक को रद्द करने को कहा. 

जावड़ेकर ने कहा, “मनमोहन सिंह जी ने प्रधानमंत्री रहते हुए एक भाषण में स्पष्ट रूप से कहा था कि एपीएमसी कानूनों में बदलाव की जरूरत है और किसानों को इसके संबंधित प्रतिबंधों से मुक्त किया जाना चाहिए. कांग्रेस को जवाब देना चाहिए कि उन्होंने इसके क्रियान्वयन के लिए क्या किया।” 

राज्यसभा में हुए घटना के लिए विपक्ष जिम्मेदार 
राज्यसभा में कृषि विधेयक के विरोध में किया गए प्रदर्शन और उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह के साथ किये दुर्व्यवहार पर निंदा की. उन्होंने कहा, “शपथ ग्रहण, दस्तावेज फाड़, डिप्टी स्पीकर पर हमला, सभी विपक्ष द्वारा करवाया अधिनियमों थे. केवल वे राज्यसभा में हुए निंदनीय और शर्मनाक प्रकरण के लिए दोषी हैं.”