18,000 children infected in Nashik, first infected on 28 March 2020
प्रतीकात्मक तस्वीर

    नई दिल्ली: कोरोना वायरस की दूसरी लहार ने देश में तांडव मचाया हुआ है। रोजाना लाखों लोग इससे संक्रमित हो रहे हैं, वहीं हजारों की संख्या में लोगों की मौत हो रही है। कोरोना के इस चरण ने युवाओं के साथ बच्चों को भी अपनी चपेट में लेना शुरू कर दिया है। जिसको देखते हुए सरकार ने बच्चों को दी जाने वाली वैक्सीन निर्माण पर जोर देना  शुरू कर दिया है। इसी क्रम में मंगलवार को, 2-18 साल के बच्चों के लिए बनाई जा रही कोवैक्सीन को दूसरे और तीसरे चरण के परीक्षण की मंजूरी मिल गई है।

    जल्द शुरू होगा परीक्षण 

    मंगलवार को नीति आयोग में स्वास्थ्य सदस्य डॉ. वीके पॉल ने स्वास्थ्य मंत्रालय की आयोजित प्रेस वार्ता में कहा, “COVAXIN को भारत के औषधि महानियंत्रक (DCGI) द्वारा 2 से 18 वर्ष के आयु वर्ग में चरण दो और तीन नैदानिक ​​​​परीक्षणों के लिए अनुमति दे दी गई है । मुझे बताया गया है कि अगले 10-12 दिनों में परीक्षण शुरू हो जाएगा।”

    ज्ञात हो कि, केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) की कोविड-19 विषय विशेषज्ञ समिति की बैठक हुई। जिसमें भारत बायोटेक द्वारा दिए प्रस्ताव पर विचार किया गया, जिसमें कंपनी ने दो साल से 18 साल के बच्चों में सुरक्षा और रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए कोवैक्सीन टीके की दूसरे/तीसरे चरण परीक्षण की अनुमति देने का अनुरोध किया गया था।