modi

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi)ने शनिवार को वर्चुअल माध्यम से आयोजित 15वे जी 20 सम्मेलन (G-20 Summit) में भाग लिया. इस बार यह सम्मेलन सऊदी अरब (Saudi Arab) के अध्यक्षता में आयोजित किया गया है. इस दो दिवसीय आयोजित यह सम्मेलन ’21 वीं सदी के अवसरों को साकार करने के लिए’ विषय पर किया गया. इस दौरान प्रधानमंत्री ने संबोधन में कहा कि कोरोना महामारी (Corona Pandemic) मानवता के बदलाव का अहम बिंदु है.

पारदर्शिता संकट से लड़ने में मददगार 

प्रधानमंत्री ने कहा, “हम जी 20 के कुशल कामकाज के लिए डिजिटल सुविधाओं को और विकसित करने के लिए भारत की आईटी प्रगति की पेशकश करते हैं.” उन्होंने कहा, ” हमारी प्रक्रियाओं में पारदर्शिता हमारे समाजों को सामूहिक रूप से और आत्मविश्वास के साथ संकट से लड़ने में मदद करती है. ग्रह पृथ्वी के प्रति भरोसे की भावना हमें स्वस्थ और समग्र जीवन शैली के लिए प्रेरित करेगी.”

 

 महामारी से तेजी से उबरेंगे

मोदी ने कहा, “जी 20 नेताओं के साथ बहुत ही उपयोगी चर्चा हुई. दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं द्वारा समन्वित प्रयासों से निश्चित रूप से इस महामारी से तेजी से उबरेंगे। वर्चुअल समिट की मेजबानी के लिए सऊदी अरब को धन्यवाद.”

 

 नए वैश्विक सूचकांक को विकसित करने की आवश्यकता

पीएम मोदी ने कहा, “जी-20 शिखर सम्मेलन में मैंने प्रतिभा, प्रौद्योगिकी, पारदर्शिता और पृथ्वी के प्रति सरपरस्ती के आधार पर एक नए वैश्विक सूचकांक को विकसित करने की आवश्यकता पर जोर दिया। साथ ही हमारे कार्यकर्ताओं के बीच बहु-कौशल और फिर से कौशल प्रतिभा पूल बनाने से गरिमा बढ़ेगी.”