PM Modi expressed grief over the road accident in Gujarat, announced compensation to the families of those killed
File Photo

    नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को यहां वार्ता के लिये अपनी बांग्लादेशी समकक्ष शेख हसीना से मुलाकात की और माना जा रहा है कि इस दौरान दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय और परस्पर हितों के व्यापक मुद्दों पर चर्चा की। कोरोना वायरस महामारी शुरू होने के बाद से मोदी का यह पहला विदेश दौरा है। वह शेख हसीना के साथ कई महत्वपूर्ण विषयों पर बातचीत करेंगे।

    इसके बाद द्विपक्षीय सहयोग के कई क्षेत्रों से जुड़े विभिन्न समझौतों पर दोनों पक्षों द्वारा हस्ताक्षर किया जाएगा। दोनों नेताओं के संस्कृति, 1971 की भावना के संरक्षण, स्वास्थ्य,रेलवे, शिक्षा, सीमा विकास, ऊर्जा सहयोग और स्टार्ट-अप्स के क्षेत्रों में सहयोग को लेकर नई घोषणाएं करने की उम्मीद है।

    मोदी ने अपने दौरे से पहले बृहस्पतिवार को कहा था, “बांग्लादेश के साथ हमारी साझेदारी हमारी पड़ोसी प्रथम नीति का महत्वपूर्ण स्तंभ है, हम इसे और गहरा करने तथा विविध आयाम देने के लिये प्रतिबद्ध हैं। प्रधानमंत्री शेख हसीना के नेतृत्व में बांग्लादेश की उल्लेखनीय विकास यात्रा का हम समर्थन जारी रखेंगे।

    ” बांग्लादेश के विदेश मंत्री डॉ. एके अब्दुल मोमीन ने पूर्व में कहा था, “जब दोनों देशों के शीर्ष नेता द्विपक्षीय बातचीत के लिये बैठेंगे तब सभी महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा होने की उम्मीद है।” उन्होंने कहा कि दोनों प्रधानमंत्री डिजिटल माध्यम से कुछ संयुक्त परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे तथा सहमति-पत्रों पर हस्ताक्षर के गवाह बनेंगे।

    मोदी का यह दौरा, शेख मुजीबुर रहमान की जन्‍मशताब्‍दी, भारत और बांग्लादेश के बीच राजनयिक संबंध स्‍थापित होने के पचास वर्ष पूरे होने और बांग्लादेश मुक्ति संग्राम के पचास वर्ष पूरे होने से संबंधित है। दो दिवसीय यात्रा पर शुक्रवार को यहां पहुंचे मोदी ने ढाका में बांग्लादेश मुक्ति संग्राम के स्वर्ण जयंती समारोह और ‘बंगबंधु’ की जन्म शताब्दी समारोह में हिस्सा लिया था।