On the allegations of scam in buying the land of Ram Mandir, Congress said – misuse of donations is unrighteousness and insult to faith
File Photo

    नयी दिल्ली. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा (Priyanaka Gandhi Vadra) उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election) के लिए आगामी 14 जुलाई से ‘मिशन यूपी’ का आगाज करेंगी और इसके तहत वह राज्य का दौरा करेंगी और पार्टी नेताओं के साथ बैठकर रणनीति बनाएंगी। सूत्रों ने बताया कि उनका उत्तर प्रदेश प्रवास 14 जुलाई से आरंभ होगा और यह दो या तीन दिनों का होगा। इसके बाद उत्तर प्रदेश के उनके दौरे सतत रूप से चलते रहेंगे। कांग्रेस के एक नेता ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया, ‘‘14 जुलाई से प्रियंका जी मिशन यूपी की शुरुआत कर रही हैं। वह नेताओं के साथ बैठकर रणनीति बनाएंगी।

    उम्मीदवारों को लेकर भी बातचीत होगी। उनके इस दौरे से कार्यकर्ताओं में ऊर्जा का नया संचार होगा।” इधर, प्रियंका ने सोमवार को उत्तर प्रदेश से जुड़े पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक की, जिसमें आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों और रणनीति को लेकर चर्चा की गई। उत्तर प्रदेश कांग्रेस सलाहकार परिषद् और रणनीतिक समूह की इस डिजिटल बैठक में प्रियंका ने महंगाई, पंचायत चुनाव के दौरान हुई हिंसा, महिलाओं के खिलाफ अपराध और कुछ अन्य मुद्दों को लेकर राज्य की भाजपा सरकार पर निशाना साधा।

    आधिकारिक बयान के मुताबिक, बैठक में यह फैसला किया गया कि महंगाई, बेरोजगारी एवं ‘जंगलराज’ के खिलाफ उप्र कांग्रेस सड़कों पर और मजबूती से उतरेगी। उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव है।

    इस बैठक से एक दिन पहले रविवार को प्रियंका गांधी ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के साथ भी बैठक की थी। बघेल के उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए रणनीति और बूथ प्रबंधन के साथ कांग्रेस संगठन को तैयार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने की संभावना है।

    कांग्रेस की सोमवार को इस डिजिटल बैठक में पार्टी के वरिष्ठ नेता राजीव शुक्ला, सलमान खुर्शीद, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, विधायक दल की नेता अराधना मिश्रा और कई अन्य वरिष्ठ नेता शामिल हुए। आधिकारिक बयान के मुताबिक, इस बैठक में कांग्रेस महासचिव ने महंगाई, कोरोना, पंचायत चुनावों, संगठन प्रशिक्षण शिविरों पर चर्चा की।

    प्रियंका ने कहा, ‘‘बढ़ती महंगाई से जनता परेशान है। पेट्रोल-डीजल, सरसों तेल, फल-सब्जियों के दाम आसमान छू रहे हैं…छुट्टा जानवरों से किसान बेहाल हैं। किसानों की लागत दुगुनी हो गई, लेकिन आय घट गई है।”

    उन्होंने पंचायत चुनाव के दौरान हुई हिंसा का उल्लेख करते हुए कहा, ‘‘भाजपा कार्यकर्ताओं ने बम, पत्थर, और गोलियां चलाईं।” आधिकारिक बयान के मुताबिक, उप्र कांग्रेस सलाहकार परिषद् एवं रणनीतिक ग्रुप के सदस्यों ने कहा कि राज्य सरकार हर मुद्दे पर विफल है। (एजेंसी)