Punjab farmer leader dies after speech on agri laws 'Bye! My time is over ... '

    अमृतसर: कीर्ति किसान यूनियन (Kirti Kisan Union) के प्रधान नेता दातर सिंह (Datar Singh) का पंजाब के अमृतसर जिले में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। जैसे ही उन्होंने एक सभा में अपना भाषण समाप्त किया, तभी उन्हें मंच पर दिल का दौरा पड़ा और अस्पताल ले जाते समय उनकी मृत्यु हो गई। दातर सिंह स्वतंत्रता सेनानी उज्ज्वल सिंह की स्मृति में आयोजित एक कार्यक्रम में भाग लेने के लिए अमृतसर के विरसा विहार पहुंचे थे।

    किसानों के आंदोलन के बारे में मंच से अपने विचार रख रहे दातर सिंह ने कहा, ‘अलविदा! मेरा समय खत्म हो गया।’ यह कहने के बाद, कुर्सी पर बैठते ही उन्हें दिल का दौरा पड़ा, जिसके बाद अस्पताल ले जाते समय उनकी मृत्यु हो गई। बताया जा रहा है कि दातर सिंह (Datar Singh) तीन दिन पहले दिल्ली के धरने से लौटे थे और एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए अमृतसर आए थे। उन्हें मंच पर भी बुलाया गया और सम्मानित किया गया, लेकिन इससे पहले यह दर्दनाक घटना हुई।

    दातर सिंह (Datar Singh) की मौत से किसान नेताओं और उनके चाहने वालों में शोक फैल गया है। उनके प्रशंसकों का कहना है कि दातर सिंह (Datar Singh) की कमी कभी पूरी नहीं होगी। वह हमेशा किसानों का हित चाहते थे। दातर सिंह (Datar Singh) कृषि कानून को निरस्त करने के संबंध में कई प्रदर्शनों में शामिल थे। केंद्र सरकार पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि मोदी सरकार कृषि कानून के समाधान की तलाश करने के बजाय किसान नेताओं को बांटने में व्यस्त है। उन्होंने कहा था कि जब तक सरकार कृषि कानून (Agricultural Law) को रद्द नहीं करती, किसान अपने घरों में नहीं जाएंगे।