Smriti Irani's allegation is fake news of Rahul Gandhi spreading Congress Party

    नयी दिल्ली. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने कोविड-19 (COVID-19) रोधी टीकाकरण के लिए ‘सिर्फ ऑनलाइन पंजीकरण’ होने पर सवाल खड़े करते हुए बृहस्पतिवार को कहा कि जिनके पास इंटरनेट की सुविधा नहीं है, उन्हें भी टीका लगना चाहिए। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) ने इन उन पर पलटवार करते हुए कहा कि उन्हें भ्रम नहीं फैलाना चाहिए क्योंकि अब लोग टीकाकरण केंद्रों पर पहुंचकर भी पंजीकरण करा सकते हैं।

    राहुल गांधी ने ट्वीट किया, “टीके के लिए सिर्फ़ ऑनलाइन पंजीकरण काफ़ी नहीं है। टीकाकरण केंद्र पर पहुंचने वाले हर व्यक्ति को टीका मिलना चाहिए। जीवन का अधिकार उनका भी है जिनके पास इंटरनेट की सुविधा नहीं है।”

    स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी पर पलटवार करते हुए ट्वीट किया, ‘‘कहत कबीर – बोया पेड़ बबूल का, आम कहां से होय। समझने वाले समझ गए होंगे। केंद्र सरकार ने पहले से ही वाक-इन रेजिस्ट्रेशन के लिए राज्यों को स्वीकृति दे दी है। भ्रम ना फैलाएं, टिका लगवाएं।”

    कांग्रेस ने पिछले दिनों ‘को-विन’ पंजीकरण की अनिवार्यता को लेकर सवाल किया था। पार्टी के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने कहा था, ‘‘हमने कई बार कहा कि यह अनिवार्य नहीं होना चाहिए क्योंकि देश में बहुत सारे लोगों के पास इंटरनेट की सुविधा नहीं है। सरकार ने मांग सुनी, लेकिन पूरी नहीं सुनी। अभी सरकारी अस्पतालों में पंजीकरण अनिवार्य नहीं है, लेकिन निजी अस्पताल के लिए है। हम फिर से कहना चाहते हैं कि सभी जगह को-विन पंजीकरण अनिवार्य नहीं होना चाहिए।” (एजेंसी)