”असली नेता” सोशल मीडिया पर नहीं कोरोना पर ध्यान देगा: राहुल गाँधी

नई दिल्ली: देश में दो दिनों में कोरोना वायरस के तीन नए मामले सामने आए है जिसके बाद पुरे देश में हडकंप मच गया हैं. जिसके बाद प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर लोगों को वायरस से नहीं घबराने का आवाहन किया

नई दिल्ली: देश में दो दिनों में कोरोना वायरस के तीन नए मामले सामने आए है जिसके बाद पुरे देश में हडकंप मच गया हैं. जिसके बाद प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर लोगों को वायरस से नहीं घबराने का आवाहन किया हैं. प्रधानमंत्री के साथ सरकार इसमुद्दे पर अपनी नज़र लगाए हुए हैं. लेकिन अब इस मुद्दे पर राजनीती भी शुरू होगई हैं. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी ने मंगलवार को प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि, " देश का असली नेता वायरस को रोकने पर ध्यान देगा ना की सोशल मीडिया पर. "

राहुल गाँधी ने इस मुद्दे पर कई ट्वीट किए अपने पहले ट्वीट में कहा, " किसी भी देश में एक समय ऐसा आता हैं जब उसके नेताओ की परीक्षा ली जाती हैं. उन्होंने कहा, " एक सच्चा नेता इस वायरस के वजह से देश और उसके अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले असर को रोकने का प्रयास करेगा."

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सोशल मीडिया को लेकर दिए बयान पर निशाना साधाते हुए राहुल गाँधी ने कहा, " प्रिय प्रधानमंत्री, जब भारत आपातकाल का सामना कर रहा हो तो अपने सोशल मीडिया बंद करने को लेकर भारत का समय बर्बाद करने से बचे." उन्होंने कहा, " देश में फैलते कोरोना वायरस पर हर भारतीय का ध्यान केंद्रित करे. " इस के साथ उन्होंने एक विडियो भी ट्वीट किया जिसमे उन्होंने लिखा देखे कैसे बचे. 

देश में कोरोना वायरस मरीज की संख्या पहुंची 12 तक 
वुहान से निकले इस वायरस के वजह से पूरी दुनिया में हाहाकार मचा हुआ हैं. दुनिया के 70 देश इस वायरस की चपेट में आचुके. वहीँ भारत में भी यह वायरस तेजी से अपने पैर फ़ैलाने लगा हैं. पिछले तीन दिनों में नौ लोग इस वायरस से संक्रमित पाए गये हैं. मंगलवार को आगरा में एक ही परिवार के छह लोग में इस वायरस की पुष्टि हुई हैं. 

लोग घबराए नहीं: प्रधानमंत्री मोदी 
इसके पहले प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर लोगों से संयम रखने का आवाहन किया था. प्रधानमंत्री ने कहा," घबराने की जरूरत नहीं है। हमें एक साथ काम करने की जरूरत है, आत्म-सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए छोटे मगर महत्वपूर्ण उपाय करें."

गौरतलब हैं कि, इस वायरस के वजह से पूरी दुनिया में तीन हजार से ज्यादा लोगों की मौत होचुकी हैं. वहीँ एक लाख से जादा लोग इस वायरस से संक्रमित हैं. अकेले चीन में इससे मरने वालों की संक्या 2800 से ज्यादा हैं. वहीँ ईरान से 55 लोगों की मौत होचुकी हैं.