वैक्सीन राजनीति में कूदे रॉबर्ट वाड्रा, वीडियो जारी कर राहुल गांधी का सवाल दोहराया

    नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टीकाकरण अभियान को लेकर बड़ी घोषण की, जिसके तहत अब 18+ उम्र के लोगों को मुफ्त में वैक्सीन लगाई जाएगी। प्रधानमंत्री के इस ऐलान पर विपक्ष ने सवाल उठाना शुरू कर दिया है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने निजी अस्पताल में दिए गए टीकों को लेकर केंद्र सरकार पर सवाल उठाया है। वैक्सीन को लेकर शुरू राजनीति में प्रियंका गांधी के पति रॉबर्ट वाड्रा भी कूद गए हैं। मंगलवार को उन्होंने वीडियो जारी कर राहुल गांधी का सवाल दोहराया है। 

    वाड्रा ने कहा, “लोगों को पता ही नहीं है कि कौन सा सेंटर फ्री में वैक्सीन दे रहा है। यदि आप कह रहे हैं कि मुफ्त टीके उपलब्ध हैं, तो आप 25 प्रतिशत निजी अस्पतालों को एक निश्चित राशि चार्ज करने की अनुमति क्यों दे रहे हैं? वैक्सीन और उससे होने वाली जटिलताओं के बारे में लोगों को जानकारी नहीं।”

    ज्ञात हो कि, सोमवार को देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुफ़्ता टीका को लेकर बड़ी घोषणा की थी। जिसके तहत 21 जून से सभी 18+उम्र के लोगों को लगने वाला टीका का खर्च केंद्र सरक़ार उठाएगी। प्रधानमंत्री ने कहा,” राज्यों के पास वैक्सीनेशन से जुड़ा जो 25% काम था उसकी जिम्मेदारी भी भारत सरकार उठाएगी। वैक्सीन निर्माताओं से कुल वैक्सीन उत्पादन का 75% हिस्सा भारत सरकार खुद खरीदकर राज्य सरकारों को मुफ्त देगी। देश की किसी भी राज्य सरकार को वैक्सीन पर कुछ भी खर्च नहीं करना होगा।”

     प्रधानमंत्री ने आगे कहा था कि, देश में बन रही वैक्सीन में से 25% निजी क्षेत्र के अस्पताल सीधे ले पाएं ये व्यवस्था जारी रहेगी। निजी अस्पताल वैक्सीन की निर्धारित कीमत के उपरांत एक डोज़ पर अधिकतम 150 रुपये ही सर्विस चार्ज ले सकेंगे। इसकी निगरानी करने का काम राज्य सरकारों के पास ही रहेगा।”

    क्या गांधी परिवार के निजी अस्पतालों में वैक्सीन मुफ्त में न मिलने वाले सवाल से आप सहमत हैं?

    • हां (100%, 1 Votes)
    • नहीं (0%, 0 Votes)

    Total Voters: 1

    Loading ... Loading ...

    प्रधानमंत्री के इस ऐलान पर राहुल गांधी ने सवाल उठाया था। उन्हें #FreeVaccineForAll के साथ लिखा कि, “एक आसान सा सवाल-यदि सभी के लिए टीके मुफ्त हैं, तो निजी अस्पताल उनके लिए शुल्क क्यों लें?”