Rupani visited Surat to take stock of the rescue measures in the wake of the rise of Kovid-19.

 सूरत. सूरत में कोविड-19 के मामले अचानक बढ़ने के बाद, गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी और उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल वैश्विक महामारी से निपटने की तैयारियों को जायजा लेने शनिवार को शहर पहुंचे। सूरत में पिछले कुछ दिनों में कोरोना वायरस के मामले चिंताजनक ढंग से बढ़े हैं जहां कई लोग काटाग्राम, वरच्छा और सरथाना इलाकों में संक्रमित पाए गए हैं जहां हीरे की पॉलिश का काम करने वाले कई इकाइयां हैं और श्रमिकों के घर हैं।

रूपाणी और राज्य के स्वास्थ्य मंत्री का प्रभार संभाल रहे पटेल, प्रकोप के स्तर का और उसके प्रसार को रोकने के लिए उठाए जा रहे कदमों का जायजा लेने के लिए जिलाधिकारी, शहर के नगर निगम प्रमुख और स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। मुख्यमंत्री के साथ मुख्य सचिव अनिल मुकिम और मुख्यमंत्री के मुख्य सचिव के कैलाशनाथन भी आए हैं।

शहर में हीरे की पॉलिश करने वाली इकाइयां प्रकोप से प्रभावित हैं जिन्हें वहां काम करने वाले 570 कामगारों और उनके रिश्तेदारों के एक माह के भीतर संक्रमित पाए जाने के बाद 30 जून से एक हफ्ते के लिए बंद रखने का आदेश दिया गया है। शुक्रवार को, सूरत नगर निगम ने वायरस के प्रसार को रोकने के लिए प्रभावित इलाकों में पान दुकानों को भी बंद रखने का आदेश दिया है। सूरत में अब तक कोविड-19 के 5,461 मामले सामने आए हैं जिनमें से 198 की मौत हो गई है और 1,803 मरीजों का विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है।