Rahul Gandhi should not worry, Congress did not do what it had done in 70 years: BJP

    नई दिल्ली: देश में कोरोना (Coronavirus Outbreaks) का प्रकोप कम हो गया है। हालांकि तीसरी लहर (Corona 3rd Wave) की आशंका एक्सपर्ट ने जताई है। इसी बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Congress Leader  Rahul Gandhi) ने आज श्वेत पत्र जारी कर केंद्र की मोदी सरकार को आड़े हाथ लिया है। राहुल के आरोपों पर अब बीजेपी आक्रामक हो गई है। भाजपा नेता संबित पात्रा (Sambit Patra) ने पलटवार करते हुए कहा कि देश में जब भी अच्छा होता है तो राहुल गांधी सवाल खड़ा करते हैं। 

    संबित पात्रा ने कहा कि राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके व्हाइट पेपर की बात की और अड़ंगा लगाने का काम किया है। कोरोना की लड़ाई में जब भी निर्णायक मोड़ आए राहुल गांधी और कांग्रेस ने राजनीति करने का  प्रयास किया। राहुल गांधी ने इस लड़ाई को पटरी से उतारने के लिए अथक परिश्रम किया है।

    पात्रा ने प्रेस वार्ता के दौरान कहा कि योग दिवस के साथ ही कल का दिन काफी अहम था। क्योंकि पूरी दुनिया में भारत अकेले ऐसा देश बना जिसने एक दिन के भीतर लगभग 87 लाख लोगों का टीकाकरण किया।

    वहीं इससे पहले राहुल गांधी ने प्रेस वार्ता कर कहा कि हमने व्हाइट पेपर विस्तृत में तैयार किया है इसका लक्ष्य ये नहीं कि सरकार ने विभिन्न गलतियां की। बल्कि देश को तीसरी लहर के लिए तैयार करने में मदद करने के लिए है। देश में तीसरी लहर आने वाली है इसलिए हम सरकार से फिर कह रहें कि उनको इसके लिए पूरी तैयारी करनी चाहिए।

    राहुल ने यह भी कहा कि व्हाइट पेपर का लक्ष्य तीसरी लहर के लिए तैयारी है ताकि तीसरी लहर जब आए तब लोगों को आसानी से ऑक्सीजन, दवाईयां , अस्पताल में बेड मिल जाएं। कोरोना सिर्फ बायोलॉजिकल बीमारी नहीं है बल्कि इकोनॉमिकल सोशल बीमारी है इसलिए सरकार को गरीब लोगों को आर्थिक सहायता देनी की जरूरत है।