school

    दिल्ली. देश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर थमने और कई राज्यों में 100 से भी कम केस आने के बाद स्कूल और कॉलेज खोलने का फैसला किया गया है। गुजरात और हरियाणा में तो बीते सप्ताह ही स्कूल कॉलेज खोले जा चुके हैं, वहीं अब पंजाब में भी अगले सप्ताह से स्कूल कॉलेज खोलने की तैयारी हो रही है. 

    देश में कई राज्य सरकारों ने 50 फीसदी क्षमता के साथ ही पढ़ाई कराने का फैसला लिया है.  इस लिहाज से छात्रों को सप्ताह में 3 दिन ही स्कूल जाना पड़ सकता है, लेकिन स्कूल जाने से पहले अभिभावकों की सहमति अनिवार्य होगी. 

     हरियाणा में खुल गए  

    हरियाणा सरकार ने 9 से 12वीं कक्षा तक के स्कूल 16 जुलाई से खोल दिए हैं, वहीं 6 से 8वीं क्लास तक के विद्यालय 23 जुलाई से खोले जाएंगे.  मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर कक्षा 1 से लेकर 5वीं तक के लिए स्कूल खोलने पर भी जल्द विचार करने वाली है.  

    छत्तीसगढ़ में 2 अगस्त से शुरूआत

    छत्तीसगढ़ में 2 अगस्त से स्कूल और कॉलेज खोलने का फैसला लिया गया है.  कॉलेजों और यूनिवर्सिटी में सत्र 2021-22 के लिए 2 अगस्त से स्टडी शुरू हो जाएगी.  रोज 50 फीसदी छात्र स्कूल-कॉलेज आएंगे और छात्रों को 3 दिन ही विद्यालय आना होगा.  

    मध्यप्रदेश में 26  से खुलेंगी 11वीं व 12वीं की क्लासें 

    मध्यप्रदेश में 11वीं और 12वीं कक्षा 26 जुलाई से खोली जाएंगी.  रोज फिलहाल 50 फीसदी क्षमता के साथ स्कूल-कॉलेज खोलने का फैसला किया गया है.  स्कूल शुरुआत में सप्ताह में 4 दिन और फिर 6 दिन चलाने की तैयारी है.  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा है कि 15 अगस्त तक हालात सामान्य रहे तो अन्य कक्षाओं के लिए भी पढ़ाई शुरू कराने की तैयारी है.  

    गुजरात में भी पढ़ाई शुरू  

    गुजरात में 15 जुलाई से 12वीं की कक्षाएं शुरू हो चुकी है. कॉलेजों और तकनीकी संस्थान भी 50 फीसदी क्षमता के साथ शुरू हो गए हैं.  स्कूल और कॉलेज के अधिकारियों को अभिभावकों की सहमति लेनी होगी.  

    दिल्ली में फिलहाल नहीं  

    वहीं दिल्ली में फिलहाल स्कूलों को न खोलने का फैसला किया गया है.  मुख्यमंत्री केजरीवाल का कहना है कि जब तक वैक्सीनेशन पूरा नहीं हो जाता, तब तक कोई जोखिम नहीं लिया जा सकता.  दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने स्कूलों में प्रशिक्षण और बैठक के उद्देश्य के लिए ऑडिटोरियम और सभा भवनों को खोलने की अनुमति दे दी है. (एजेंसी )