Rape
प्रतीकात्मक तस्वीर

    मुंबई: उत्तर प्रदेश के बांदा जिले की शहर कोतवाली क्षेत्र में शादी का झांसा देकर 22 वर्षीय एक दलित युवती के साथ दो साल तक कथित रूप से यौन उत्पीड़न करने का मामला सामने आया है। पुलिस ने इस सिलसिले में मामला दर्ज कर आरोपी युवक की तलाश शुरू कर दी है। बांदा शहर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक (एसएचओ) जयश्याम शुक्ला ने शुक्रवार को बताया कि महोबा जिले के मौदहा क्षेत्र की रहने वाली अनुसूचित जाति की 22 वर्षीय एक युवती यहां किराए के कमरे में रहकर पढ़ाई कर रही है। उसने बृहस्पतिवार की शाम एक शिकायत दर्ज करवाई।

    शुक्ला के अनुसार, शिकायत में युवती ने आरोप लगाया कि उसके पड़ोस में किराए के कमरे में रहकर पढ़ाई करने वाला हमीरपुर जिले का युवक उत्कर्ष सचान (25) पिछले दो साल से शादी का झांसा देकर उसका यौन उत्पीड़न दुष्कर्म करता रहा और अब शादी का दबाव डालने पर युवती को जान से मारने की धमकी दे रहा है।

    उन्होंने बताया कि युवती ने अपनी शिकायत में कहा कि एक माह पूर्व आरोपी की सरकारी नौकरी लग गयी और वह कानपुर चला गया है। एसएचओ ने बताया कि पीड़ित युवती की शिकायत पर उत्कर्ष सचान के खिलाफ दुष्कर्म, जान से मारने की धमकी देने और अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम (एससीएसटी एक्ट) की धाराओं के अंतर्गत मामला दर्ज कर पीड़िता का चिकित्सकीय परीक्षण करवाया गया है। उन्होंने कहा कि आरोपी युवक की तलाश में पुलिस की टीम हमीरपुर और कानपुर भेजी गयी है।