Sharad Power's big charge on the central government, said - "Action is being taken if Maharashtra does not come to power"

मुंबई: शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक (Pratap Sarnaik) पर ईडी (ED) की कार्रवाई के महाराष्ट्र (Maharashtra) की राजनीति गरमा गई है। ईडी की मंगलवार को हुई सरनाईक के घर और दफ्तरों ऊपर रेड (Raid) के बाद लगातार महाराष्ट्र के बड़े नेता अपना पक्ष रख रहे हैं। ऐसे में एनसीपी सुप्रीमो (NCP Chief) शरद पवार (Sharad Pawar) ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। 

बीजेपी पर आरोप लगते हुए कहा पवार ने कहा है कि, “महाराष्ट्र की हुक़ूमत को एक साल बीत गए, पर सत्ता हाथ आने की स्थिति में नहीं है। ये पता चलने के बाद केंद्र के पास जो अधिकार हैं उसका ये दुरुपयोग है और कुछ नहीं।”

वहीं इस पुरे मामले में शिवसेना सांसद संजय राउत ने भाजपा का नाम लिए बिना कहा कि उसे (भाजपा) अगले 25 साल तक महाराष्ट्र में सत्ता में आने का ख्वाब देखना बंद कर देना चाहिए। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार एजेंसियों के द्वारा चाहे जितना दबाव बना ले शिवसेना उसके आगे नहीं झुकेगी। उन्होंने कहा, “अगर आपने आज शुरुआत की है तो हमें पता है कि इसका अंत कैसे करना है।”

दरअसल मनी लॉन्ड्रिंग (Money Laundering) के एक मामले में ईडी ने मंगलवार को शिवसेना विधायक सरनाईक से संबंधित परिसरों पर छापेमारी की है। सूत्रों के अनुसार, मुंबई (Mumbai) और ठाणे (Thane) के प्रताप सरनाईक की कई प्रॉपर्टी पर ईडी छापेमारी कर रही है। प्रताप सरनाईक के बेटे विहंग सरनाईक (Vihang Sarnaik) को ईडी ने हिरासत में लिया है। 

राउत ने कहा, “यह कार्रवाई निश्चित रूप से राजनीतिक प्रतिशोध है। ईडी या किसी अन्य एजेंसी को किसी राजनीतिक पार्टी की शाखा के रूप में काम नहीं करना चाहिए।” उन्होंने कहा कि सरनाईक की संपत्ति पर उस समय छापेमारी की गई, जब वह घर पर नहीं थे। राउत ने कहा कि चाहे जितने भी नोटिस जारी किये जाएं, महाराष्ट्र में केवल सत्य की विजय होगी।