NCB-RIYA

नई दिल्ली: सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या (Shushnat Singh Rajput Suicide) मामले में राजनीति अपने चरम पर पहुंच गई है. सुशांत को न्याय दिलाने के बिहार (Bihar) से शुरू हुई राजनीतिक गर्मी की आंच अब पश्चिम बंगाल (West Bengal)  तक पहुंच गई है. शनिवार को कोलकाता में कांग्रेस (Congress) ने रिया चक्रवर्ती ( Rhea chakraborty) के समर्थन में रैली का आयोजन किया. कांग्रेस की रैली पर हमला करते हुए भाजपा (BJP) ने उससे सवाल पूछा है कि, “बताएं कांग्रेस किसके साथ हैं.”

कांग्रेस और राजद का हमेशा दोहरा चरित्र रहा है, यहां वो सुशांत की बात कर रहे हैं और कोलकाता में रिया चक्रवर्ती की तरफ से बात करते हैं. कांग्रेस को स्पष्ट करना चाहिए कि वह सुशांत की हत्या में शामिल रिया चक्रवर्ती के साथ खड़ी है या सुशांत को इंसाफ दिलाने के साथ

संजय जायसवाल, बिहार भाजपा अध्यक्ष और सांसद

ज्ञात हो कि पश्चिम बंगाल में कांग्रेस के नेताओं ने रिया चक्रवर्ती के समर्थन में राजधानी कोलकाता में रैली का आयोजन किया था. जिसमें रिया को बंगाल की बेटी बताते हुए उसे न्याय देने की मांग रैली में आए कांग्रेस के कार्यकर्ता कर रहे थे. इस दौरान लोगों ने हाथों में पोस्टर व बैनर के साथ रिया के प्रति समर्थन जताया. इसके अलावा रिया के समर्थन में नारे भी लगाए.

अधीर रंजन का भाजपा पर हमला 
लोकसभा में कांग्रेस दल के नेता और पश्चिम बंगाल कांग्रेस अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी (Adhir Ranjan Choudhary) ने सुशांत मामले को लेकर भाजपा पर हमला बोला है. उन्होंने कहा, “विख्यात सितारा श्री  सुशांतसिंह राजपूत एक भारतीय अभिनेता थे, लेकिन भाजपा ने उन्हें एक बिहारी अभिनेता में बदल दिया, केवल चुनावी ब्राउनी अंक स्कोर करने के लिए.”

इसी के साथ जांच एजेंसियों पर हमला बोलते हुए कहा, “राजनीतिक मास्टर्स को खुश करने के लिए केंद्रीय एजेंसियों ने अपनी भूमिका निभाई है, समुद्र मंथन के बाद उन्होंने अमृत के बजाय दवाओं की खोज की है. फिर भी वे अंधेरे में टटोल रहे हैं कि हत्यारे कौन हैं?.”

रिया निर्दोष नहीं किया अपराध
रिया को निर्दोष बताते हुए अधीर रंजन ने कहा, “रिया चक्रवर्ती ने आत्महत्या के लिए न तो उकसाया है और न ही हत्या. इसी के साथ ना ही कोई आर्थिक अपराध किया गया है, उसे एनडीपीएस के तहत गिरफ्तार किया गया है, जो एक भद्दी बात.”

उन्होंने कहा, “रिया के पिता भी अपने बच्चों के लिए न्याय मांगने के हकदार हैं, मीडिया द्वारा परीक्षण हमारी न्यायिक प्रणाली के लिए एक अशुभ हिस्सा है. सभी के लिए न्याय हमारे संविधान के मूल सिद्धांतों में से एक है.” 

सुशांत को न्याय पूरे बिहारी के रूप में ना समझे 
कांग्रेस नेता ने कहा, “रिया के पिता एक पूर्व सैन्य अधिकारी हैं, जिन्होंने देश की सेवा की. रिया एक बंगाली ब्राह्मण महिला हैं, अभिनेता सुशांत राजपूत को न्याय बिहारी के लिए न्याय के रूप में नहीं समझा जाना चाहिए.”

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. बिहार में जिस तरह मुख्यमंत्री नितीश कुमार, भाजपा, आरजेडी, सहित तमाम दलों ने सुशांत को बिहार का बेटा बताते हुए अपनी सक्रियता दिखाई है. उसी तर्ज पर बंगाल में भी कांग्रेस ने रिया को राज्य की बेटी बताते हुए अपनी राजनीतिक जमीन बनाने की कोशिश शुरू कर दी है.