कोरोना पर थोड़ी राहत, पॉजिटिविटी रेट घटकर हुई 3.2 प्रतिशत

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस (Corona Virus) के मामले 97 लाख से ज्यादा हो गया है. कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर आज केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Ministry Of Heath And Family Welfare) ने आज पत्रकार सम्मेलन का आयोजन किया। जिसको संबोधित करते हुए स्वास्थ्य सचिव ने राजेश भूषण (Rajesh Bhushan) ने कहा कि, “हमारे देश में केस पॉजिटिविटी लगातार घट रही है और कुल पॉजिटिविटी रेट 6.5% है। पिछले एक सप्ताह का पॉजिटिविटी रेट 3.2% है।”

चार लाख से कम सक्रिय मामले

राजेश भूषण ने कहा, “आज देश में सक्रिय मामले 4 लाख से कम हैं। यह कुल मामलों की संख्या के 4% से कम है। केस पॉजिटिविटी रेट घट रहा है.” उन्होंने कहा, “कुल सक्रिय मामलों में 54  प्रतिशत मामले महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक, पश्चिम बंगाल और दिल्ली से हैं।”

दुनिया भर में मामले बढ़ रहे

भूषण ने कहा, “दुनिया भर में मामले बढ़ रहे हैं। सितंबर मध्य से भारत में नए मामलों में लगातार और लगातार गिरावट आई है. प्रति दस लाख लोगों पर कोरोना वायरस के मामलों में अगर हम विश्व के बड़े देशों से भारत की तुलना करें तो वहां भारत से सात-आठ गुना ज़्यादा मामले हैं।”

 हरी झंडी मिलते ही टीके का उत्पादन 

स्वास्थ्य सचिव ने टीके को लेकर किए सवाल पर कहा, “एक बार जब हमें अपने वैज्ञानिकों से हरी झंडी मिल जाती है, तो हम बड़े पैमाने पर टीके का उत्पादन शुरू करेंगे। हमने पूरी तैयारी की है और कम से कम समय में प्रत्येक व्यक्ति को यह उपलब्ध कराने के लिए वैक्सीन के उत्पादन को बढ़ाने के लिए एक रूपरेखा तैयार की है.”

उन्होंने आगे कहा, “सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक ने इमरजेंसी यूज अप्रूवल के लिए आवेदन किया है। पीएम ने सभी वैक्सीन निर्माताओं और वैज्ञानिकों से बातचीत की। भारत में नैदानिक ​​परीक्षण चरण में 6 वैक्सीन उम्मीदवार।”

कुछ दिनों में अनुमति 

भूषण ने कहा, “वैक्सीन के कुछ उम्मीदवारों को अगले कुछ हफ्तों में लाइसेंस मिल सकता है.” उन्होंने कहा, “तीन वैक्सीन प्री-क्लीनिकल स्टेज में हैं और 6 वैक्सीन क्लीनिकल ट्रायल में हैं। ये 2-3 डोज वाले वैक्सीन हैं, अधिकांश 2 डोज वाले वैक्सीन हैं। हर डोज़ के बीच की दूरी 3-4 हफ़्ते की है।”

टीकाकरण सरकारों के साथ लोगों की जिम्मदारी 

भूषण ने कहा, “टीकाकरण केवल एक राज्य या केंद्र की ज़िम्मेदारी नहीं हो सकती, इसमें लोगों की भागीदारी होनी चाहिए.” उन्होंने कहा, “इस वर्ष अगस्त में COVID19 के लिए वैक्सीन प्रशासन पर राष्ट्रीय विशेषज्ञ समूह का गठन किया था। यह विशेषज्ञ दल जनसंख्या समूहों, खरीद और सूची प्रबंधन, टीका चयन और टीका वितरण और ट्रैकिंग तंत्र के प्राथमिकताकरण पर मार्गदर्शन प्रदान करेगा.”

दिल्ली की स्थिति में हुआ सुधार 

नीति आयोग के सदस्य वि के पॉल ने कहा, “दिल्ली में कोरोना की स्थिति में सुधार हो रहा है.” उन्होंने कहा, “हम वायरस का पीछा कर रहे हैं और हमें यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि वायरस हमारा पीछा न करे।”

पॉल ने कहा, “तीन वैक्सीन उम्मीदवार लाइसेंस के लिए नियामक के विचाराधीन हैं। बहुत सक्रिय विचार चल रहा है। आशा है कि उन सभी या उनमें से किसी एक के संबंध में शीघ्र लाइसेंस संभव है।”