sushil-modi

नई दिल्ली. बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री सुशील मोदी को भारतीय जनता पार्टी राज्यसभा भेजने की तैयारी में है। भाजपा ने उन्हें बिहार से उम्मीदार बनाया हैं। ऊपरी सदन के लिए मोदी का चुना जाना लगभग तय है क्योंकि भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) का राज्य विधानसभा में बहुमत है। राजद के नेतृत्व वाले प्रतिद्वंद्वी गठबंधन द्वारा चुनाव लड़ने की स्थिति में इस सीट के लिए 14 दिसंबर को चुनाव होगा।

गौरतलब है कि बिहार चुनाव के बाद सुशील मोदी को उप-मुख्यमंत्री नहीं बनाया गया था। जिसके बाद से ही चर्चा थी कि उन्हें पार्टी राज्यसभा भेज सकती है।

एलजेपी नेता रामविलास पासवान के निधन के बाद बिहार से एक राज्यसभा सीट खाली हुई है। इस सीट पर उपचुनाव को लेकर निर्वाचन आयोग ने गुरुवार को अधिसूचना जारी की। इसके साथ ही नामांकन की प्रक्रिया भी शुरू हो गई। हालांकि पहले दिन एक भी नामांकन दाखिल नहीं हुआ। वही आज भाजपा ने सुशील मोदी को उम्मीदवार बनाने की घोषणा कर दी।

निर्वाचन आयोग की अधिसूचना के मुताबिक, नामांकन की अंतिम तिथि तीन दिसंबर निर्धारित की गई है। जबकि 28, 29 व 30 नवंबर को एनआई एक्ट के तहत अवकाश घोषित होने के कारण उस दिन नामांकन पत्र नहीं दाखिल किया जाएगा।