Prakash Javadekar

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में बुधवार को हुई कैबिनेट बैठक में सरकार ने किसनों को बढ़ी राहत दी हैं. प्रधानमंत्री फ़सल बीमा पर निर्णय लेते हुए उसे स्वैछिक बना दिया हैं. वहीँ दूसरे

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में बुधवार को हुई कैबिनेट बैठक में सरकार ने किसनों को बढ़ी राहत दी हैं. प्रधानमंत्री फ़सल बीमा पर निर्णय लेते हुए उसे स्वैछिक बना दिया हैं. वहीँ दूसरे निर्णय में किसानों को दी जाने वाले कर्ज सब्सिडी को दो से बढ़ाकर 2.5 कर दिया हैं. इस निर्णय के वजह से देश भर के किसानों को बड़ा लाभ होगा. निर्णय की जानकारी  केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और स्मृति ईरानी दी. 

फ़सल बीमा अब स्वैछिक 
निर्णय की जानकारी देते हुए केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा, " किसानों के कल्याण के लिए सरकार ने कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए हैं. हमने फ़सल बीमा पर संशोधन करते हुए उसे अब स्वैछिक बना दिया हैं. जिसके तहत किसान अगर फ़सल का बीमा करना चाहता है तो कराए अन्यथा ना कराए।" उन्होंने कहा, " देश में अभी तक कुल 5. 5  करोड़ किसानों ने फ़सल बिमा का लाभ उठाया हैं. जिसके तहत कुल 13,000 करोड़ रुपए की प्रीमियम भरी गई हैं. वहीँ 60,000 करोड़ रुपए के दावे को मंजूरी दीगई।"

नार्थ ईस्ट के किसानों को तौफ़ा 
कृषि मंत्री ने कहा, " सरकार ने नार्थ ईस्ट के किसानों पर विशेष ध्यान देते हुए फ़सल बीमा के प्रीमियम को 50 फीसदी से कर के 90 फ़ीसदी कर दिया हैं. जिसके तहत इन राज्यों में प्रीमियम की 90 फीसदी रकम केंद्र सरकार भरेगी और बाकि बची 10 फ़ीसदी राज्य सरकार। 

डेयरी के लिए 4558  करोड़ 
मंत्री मंडल ने डेयरी क्षेत्र को विकसित करने के लिए कुल 4558 करोड़ रुपए के कई योजनाओं की मंजूरी दी हैं. इन योजनाओं से देश भर के कुल 95 लाख किसानों को फ़ायदा पहुंचेगा। वहीँ सरकार ने देश भर में 10,000 उत्पादन संघ बनाने की घोषणा की हैं.