बच्चू कडु मोझरी से हजारों किसान दोपहिया और ट्रैक्टरों के साथ दिल्ली की ओर रवाना 

अमरावती. कृषि कानून के खिलाफ पंजाब और हरियाणा के किसानों का प्रदर्शन दिल्ली में पिछले कुछ दिनों से शुरू है। इस बीच महाराष्ट्र के जल संसाधन और शिक्षा राज्य मंत्री बच्चू कडु ने भी केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करके दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन में हिस्सा लेने का फैसला किया है। आज शुक्रवार को अमरावती जिले के गुरुकुंज मोझरी से बच्चू कडु ने अपने आंदोलन की शुरुवात कर हजारों किसान, दोपहिया और ट्रैक्टरों के साथ दिल्ली की ओर रवाना हो गए है।  

गौरतलब है कि, सोमवार को बच्चू कडु ने किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए सरकार को अल्टीमेटम दिया था कि, अगर 3 दिसंबर तक किसानों की मांगे पूरी नहीं की जाती है, तो लाखों किसानों का जत्था दुपहिया और ट्रैक्टरों के साथ महाराष्ट्र से दिल्ली जायेगा। 

अपनी मांगो पर डटे है किसान

गौरतलब है कि, कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली में किसानों का आंदोलन का आज नौवां दिन है। दो दिन पहले गुरुवार को हुई किसानों और कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर के नेतृत्व में तीन केंद्रीय मंत्रियों के साथ बैठक हुई थी। हालांकि इस बैठक में भी कोई फैसला नहीं किया गया। आठ घंटे चली इस बैठक में किसान नेता नए कृषि कानूनों को रद्द करने की अपनी मांग पर अड़े रहे। बैठक के बीच में सरकार की तरफ से की गई दोपहर के भोजन, चाय और पानी की पेशकश को भी किसानों ने ठुकरा दिया। 

दिल्ली पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा

किसानों के लगातार जारी प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने अपने सुरक्षा बढ़ा दी है। साथ ही, शहर में प्रवेश और निकास के लिए वैकल्पिक मार्गों से आवागमन करने का सुझाव दिया है। आंदोलनरत किसानों ने बुधवार को मांग की कि केन्द्र संसद का एक विशेष सत्र बुलाए और कृषि कानूनों को वापस ले। ऐसा नहीं होने पर उन्होंने दिल्ली में अन्य मार्गों को जाम करने और ‘अतिरिक्त कदम उठाने’ की धमकी दी है।