Assam Flood
PTI Photo

नयी दिल्ली. असम में बाढ़ की स्थिति में मंगलवार को मामूली सुधार हुआ लेकिन स्थिति अभी भी गंभीर बनी हुई है। बाढ़ के कारण तीन और लोगों की मौत हो गई, जिससे बाढ़ में मरने वाले लोगों की संख्या 25 हो गई। इस बीच, देश के कई हिस्सों में मूसलाधार बारिश हुई, जबकि गुजरात में बिजली गिरने से सात लोगों की मौत हो गई। उत्तर भारत में मौसम मुख्य रूप से उमसभरा रहा, जबकि पश्चिमी, मध्य, पूर्वी और पूर्वोत्तर क्षेत्रों के कई इलाकों में मानसून की बारिश हुई।

गुजरात के सौराष्ट्र में बिजली गिरने की अलग-अलग घटनाओं में सात लोगों की मौत हो गई। राष्ट्रीय राजधानी में, आंशिक रूप से बादल छाए रहने और अलग-अलग क्षेत्रों में हल्की बारिश होने की वजह से पारा कुछ नीचे रहा। हालांकि, आर्द्रता का स्तर 91 प्रतिशत तक बढ़ गया, जिससे उमस बढ़ने के कारण दिल्लीवासियों को काफी परेशानी हुई।

दिल्ली की सफदरजंग वेधशाला ने अधिकतम तापमान 37.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया। अधिकांश स्थानों पर अधिकतम तापमान 36 डिग्री सेल्सियस से 40 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया। असम में एक आधिकारिक बुलेटिन के अनुसार, बाढ़ से प्रभावित कुल 25 जिलों में से दो जिले- उदलगुरी और कामरूप (शहर) में बाढ़ का पानी कम हुआ। बाढ़ ने 15 लाख से अधिक लोगों को प्रभावित किया है और 25 लोगों की जान ले ली, जिनमें से तीन लोगों की मंगलवार को मौत हो गई, जिनमें दो बारपेटा जिले में और एक मौत डिब्रूगढ़ में हुई है।

असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने कहा कि धेमाजी, लखीमपुर, विश्वनाथ, चिरांग, नलबाड़ी, बारपेटा, बोंगईगांव, कोकराझार, धुबरी, दक्षिण सालमारा, गोलपारा, कामरूप, मोरीगांव, होजई, नौगांव, गोलाघाट, जोरघाट, माजुली, शिवसागर, डिब्रूगढ़, तिनसुकिया और पश्चिम कार्बी आंगलोंग जिलों में बाढ़ की स्थिति गंभीर बनी हुई है। भारत मौसम विज्ञान विभाग के एक पूर्वानुमान के अनुसार, ‘‘पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल और सिक्किम और पूर्वोत्तर राज्यों में अगले पांच दिनों के दौरान भारी वर्षा जारी रहने का अनुमान है।” उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में मंगलवार को अधिकतम तापमान 35.6 डिग्री सेल्सियस जबकि न्यून्तम तापमान 26.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग के अनसुार प्रदेश में आगरा सबसे गर्म शहर रहा जहां तापमान 37.7 डिग्री सेल्सियस रहा जबकि झांसी में 37.6 और इटावा में तापमान 37 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

विभाग के मुताबिक बलिया में 35 मिमी जबकि वाराणसी में 3.6 मिमी बारिश दर्ज की गयी। हरियाणा और पंजाब में दिन का तापमान सामान्य के करीब रहा। दोनों राज्यों की संयुक्त राजधानी चंडीगढ़ में अधिकतम तापमान 36.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हिसार में 40.4 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। राजस्थान के अधिकतर शहरों में सोमवार के मुकाबले अधिकतम तापमान में दो से तीन डिग्री सेल्सियस की वृद्धि दर्ज की गई। बीकानेर में अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

मौसम विभाग के अनुसार बीकानेर में अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस, चूरू में 44.9 डिग्री सेल्सियस, श्रीगंगानगर-जैसलमेर में 43.4 डिग्री सेल्सियस, जोधपुर में 43.1 डिग्री सेल्सियस, बाडमेर में 42.4 डिग्री सेल्सियस, जयपुर में 41.9 डिग्री सेल्सियस, अजमेर में 40 डिग्री सेल्सियस, कोटा में 37.8 डिग्री सेल्सियस, डबोक में 37.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं राज्य के अधिकतर स्थानों पर न्यूनतम तापमान 25.2 डिग्री सेल्सियस से लेकर 33.8 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया।

विभाग ने आगामी 24 घंटों के दौरान बांसवाड़ा, बारां, भीलवाड़ा, बूंदी, झुंझुनूं, झालावाड़, डूंगरपुर, कोटा, प्रतापगढ़, राजसमंद, सिरोही, उदयपुर में कहीं-कहीं मेघगर्जन/वज्रपात की संभावना जताई है। गुजरात के सौराष्ट्र क्षेत्र में मंगलवार को आकाशीय बिजली गिरने की अलग-अलग घटनाओं में दो बच्चों समेत सात लोगों की मौत हो गई। इस क्षेत्र में भारी बारिश दर्ज की गई है। एक अधिकारी ने बताया कि जामनगर जिले के लालपुर में रक्का गांव के खेत में आकाशीय बिजली गिरने से 35 वर्षीय एक महिला और उसके 12 वर्षीय बेटे की मौत हो गई जबकि देवभूमि द्वारका जिले के विरामदाद गांव में इसी तरह की एक अन्य घटना में दो महिलाओं की मौत हो गई।

उन्होंने कहा कि इसी तरह की घटनाओं में बोटाद जिले के दो गांवों में आकाशीय बिजली गिरने से तीन लोगों की मौत हो गई। उन्होंने कहा कि मृतकों में पांच वर्षीय एक लड़का, उसके 60 वर्षीय दादा और 17 वर्षीय एक किशोरी शामिल है। उन्होंने कहा कि इन लोगों शवों को पोस्टमार्टम के लिए नजदीकी अस्पतालों में ले जाया गया है।

सौराष्ट्र के कई हिस्सों, खासकर जामनगर, गिर सोमनाथ, जूनागढ़, राजकोट और भावनगर जिलों में भारी बारिश हुई। मौसम विभाग के अनुसार, जामनगर के कलावाद में मंगलवार दोपहर केवल दो घंटे में सबसे अधिक 73 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई जबकि गिर सोमनाथ जिले के वेरावल और जामनगर जिले के ढोल में शाम चार बजे तक 48 मिलीमीटर बारिश हुई। विभाग से मिली जानकारी के अनुसार गुजरात के नौ तालुकों में सुबह छह बजे से शाम चार तक 40 मिलीमीटर से अधिक बारिश हुई। (एजेंसी)