electricity

    नयी दिल्ली. प्राप्त खबरों के अनुसार अब केंद्रीय ऊर्जा मंत्रालय ने बीते फरवरी महीने के बिजली खपत के आंकड़े (Electricity Usage Index) जारी कर दिए हैं। इन सरकारी आंकड़ों के मुताबिक देश की बिजली खपत बीते फरवरी माह के दौरान 0.88 प्रतिशत बढ़कर 104.73 अरब यूनिट तक पहुंच चुकी है। इसका सीधे-सीधे माने ये हुए कि इस बार गर्मी का मौसम थोड़ा जल्दी ही पैर पसार चूका है। जिसके चलते लोगों ने जनवरी के मुकाबले बीते फरवरी में बिजली उपकरणों का ज्यादा इस्तेमाल किया है।

    क्या थे पिछले साल आंकड़े:

    अगर ऊर्जा मंत्रालय की मानें तो बीते साल फरवरी 2020 में बिजली की कुल खपत 103.81 अरब यूनिट रही थी उसके उलटमांग का आंकड़ा 176.38 गीगावाट था। इस बार ये आंकड़ा 6. 7 % बढ़कर 188.15 गीगावाट तक पहुंच चूका है। हालांकि इस तरह खपत बढ़ने से बिजली की आपूर्ति में वैसे तो कोई दिक्कत नहीं आई क्योंकि ऊर्जा मंत्रालय के पास पहले से ही इसके लिए पर्याप्त बिजली थी।

    क्यों बढ़ी खपत:

    इधर जानकारों का मानना है कि इस बार गर्मी का मौसम बीते सालों के मुकाबले जरा जल्दी ही आ गया है। इसके अलावा कोरोना काल से जैसे जैसे अपना देश उबर रहा है, जिंदगी वापस अपनी पटरी पर लौट रही है। अब इन सबकाअसर भी बिजली की खपत पर पड़ रहा है। ऊर्जा मंत्रालय की मुताबिक जो हालात मौजूदा वक्त में हैं उनसे इस बार बिजली की खपत रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच सकता है। हालाँकि गर्मी के मौसम ने फिलहाल दस्तक ही दी है।