ट्विटर (Photo Credits-Twitter)
ट्विटर (Photo Credits-Twitter)

    नयी दिल्ली: सरकार के साथ तनाव के बीच ट्विटर ने भारत के लिए भारत के ही निवासी शिकायत अधिकारी पद पर विनय प्रकाश को नियुक्त किया है। कुछ दिन प़हले ही कंपनी ने मुख्य अनुपालन अधिकारी की नियुक्ति की थी। इसके अलावा ट्विटर ने नए आईटी नियमों के तहत पहली भारत पारदर्शिता रिपोर्ट भी प्रकाशित की है। कंपनी की वेबसाइट पर यह सूचना डाली गई है। 

    भारत में नए सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) नियमों का अनुपालन करने में विफल रहने की वजह से ट्विटर लगातार विवादों के घेरे में है।  नए आईटी नियमों के तहत 50 लाख से अधिक प्रयोगकर्ताओं वाली सोशल मीडिया कंपनियों को को तीन महत्वपूर्ण नियुक्तियां….मुख्य अनुपालन अधिकारी, नोडल अधिकारी और शिकायत अधिकारी की नियुक्ति करने की जरूरत है। ये तीन अधिकारी भारत के निवासी होने चाहिए। 

    ट्विटर की वेबसाइट पर डाली गई सूचना के अनुसार विनय प्रकाश कंपनी के निवासी शिकायत अधिकारी (आरजीओ) हैं। प्रयोगकर्ता पेज पर दी गई वेबसाइट के जरिये उनसे संपर्क कर सकते हैं।  इसमें आगे कहा गया है कि ट्विटर से इस पते….चौथी मंजिल, द एस्टेट, 121 डिकन्सन रोड, बेंगलूर-560042 पर संपर्क किया जा सकता है। प्रकाश का नाम कंपनी के वैश्विक विधि नीति निदेशक जेरमी केसल के साथ डाला गया है। केसल अमेरिका निवासी हैं।  

    इससे पहले ट्विटर ने आईटी नियमों के तहत धर्मेंद्र चतुर को भारत के लिए अपना अंतरिम निवासी शिकायत अधिकारी नियुक्त किया था। चतुर ने कुछ सप्ताह बाद ही अपने पद से इस्तीफा दे दिया था।  कैलिफोर्निया स्थित जेरमी केसल को भारत का शिकायत समाधान अधिकारी बनाया गया था। लेकिन यह नियुक्ति आईटी नियमों की जरूरतों को पूरा नहीं करती थी। इनमें नियमों के तहत शिकायत अधिकारी, मुख्य अनुपालन अधिकारी और नोडल अधिकारी भारत में निवासी होने चाहिए। 

    ट्विटर ने अपनी पहली अनुपालन रिपोर्ट भी प्रकाशित की है। अपनी भारत पारदर्शिता रिपोर्ट : प्रयागकर्ता शिकायत और अग्रसारी निगरानी, जुलाई, 2021 की रिपोर्ट में ट्विटर ने कहा है कि उसे 94 शिकायतें मिली हैं। 26 मई, 2021 से 25 जून, 2021 के दौरान उसने 133 यूआरएल पर ‘कार्रवाई’ की है। 

    ट्विटर ने कहा कि शिकायत अधिकारी-भारतीय चैनल के जरिये मिली शिकायतों में 20 मानहानि, छह शोषण/दुर्व्यवहार और चार संवेदनशील एडल्ट सामग्री से संबंधित थीं। इसके अलावा एक शिकायत बौद्धिक संपदा के उल्लंघन से संबंधित भी थी।  इसके अलावा कंपनी ने ट्विटर खातों को निलंबित करने की अपील करने वाली 56 शिकायतों का भी निपटान किया। 

    एक अलग श्रेणी- ‘जागरूक डेटाडेटा-निगरानी ‘ के तहत ट्विटर ने 18,385 खातों को निलंबित किया। इन खातों को बाल शोषण, अश्लीलता तथा इसी तरह की अन्य सामग्री के लिए निलंबित किया गया। आतंकवाद को प्रोत्साहन देने के आरोप में 4,179 खाते बंद किए गए। 

    ट्विटर के भारत में करीब 1.75 करोड़ प्रयोगकर्ता हैं। नए सोशल मीडिया नियमों को लेकर ट्विटर का भारत सरकार के साथ विवाद चल रहा है। ट्विटर ने भारत में मध्यवर्ती के रूप में अपना कानूनी कवच गंवा दिया है। अब वह प्रयोगकर्ताओं द्वारा किसी तरह की गैरकानूनी सामग्री डालने के लिए जिम्मेदार होगी। 

    इससे पहले ट्विटर ने आठ जुलाई को दिल्ली उच्च न्यायालय को सूचित किया था कि उसने अंतरिम मुख्य अनुपालन अधिकारी नियुक्त किया है, जो भारत का निवासी है। इसके अलावा कंपनी ने नए आईटी नियमों के तहत आठ सप्ताह में नियमित पदों को भरने की भी प्रतिबद्धता जताई थी।(एजेंसी)