Omar Abdullah denied the allegations of Congress, said- 'Will send legal notice to Baghel'

श्रीनगर: उच्चतम न्यायालय में आज जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और जम्मू कश्मीर नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला पर पब्लिक सेफ्टी एक्ट (PSA) लगाए जाने के खिलाफ दायर याचिका पर सुनवाई

श्रीनगर: उच्चतम न्यायालय में आज जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और जम्मू कश्मीर नेशनल कांफ्रेंस के नेता  उमर अब्दुल्ला पर पब्लिक सेफ्टी एक्ट (PSA) लगाए जाने के खिलाफ दायर याचिका पर सुनवाई होगी। अब्दुल्ला की बहन ने कुछ दिनों पहले सरकार के फैसले को चुनौती देते हुए याचिका दायर की थी। बीते दिनों ही उन्हें अपने आवास पर नजरबंद किया गया था।

सारा ने अपनी याचिका में कहा है कि PSA के अंतर्गत रखने का आदेश असंवैधानिक है और यह  मौलिक अधिकारों का भी उल्लंघन करता है। साथ थी उसमे यह भी कहा गया है कि  जब उनके भाई रिहा होने वाले थे तो याचिकाकर्ता को अचानक से उनके PSA  (जिसमें उनके पिता फारुक अब्दुल्ला भी हिरासत में हैं) के प्रावधानों के अंतर्गत फिर से हिरासत में रखे जाने का पता चलता है। उमर पिछले कई महीनों से हिरासत में हैं।

बीते वर्ष  अगस्त में अनुच्छेद 370 खत्म होने के बाद से ही उमर अब्दुल्ला अपने श्रीनगर के हरि निवास में बंद हैं। जब वह 6 महीने बाद रिहा होने वाले थे तब 6 फरवरी 2020 को PSA के अंतर्गत उनके खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। जिसके बाद उन्हें बिना ट्रायल 3 महीने के लिए जेल में भी डाला जा सकता है।