suresh-angadi

नयी दिल्ली. केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी (Suresh Angadi) के निधन (Death) पर बृहस्पतिवार को शोक व्यक्त करते हुए कहा कि राष्ट्र ने एक प्रतिष्ठित नेता, शिक्षाविद, उत्कृष्ट सांसद और सक्षम प्रशासक दिया है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए हुई मंत्रिमंडल की बैठक में दो मिनट का मौन रखा गया और अंगड़ी के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए एक प्रस्ताव भी पारित किया गया। अंगड़ी (65) का यहां एम्स में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के कारण निधन हो गया था। अंगड़ी पहले केन्द्रीय मंत्री हैं, जिनका कोरोना वायरस के कारण निधन हुआ है।

प्रस्ताव में कहा गया, ‘‘ 23 सितंबर, 2020 को नई दिल्ली में केन्द्रीय रेल राज्य मंत्री सुरेश सी. अंगड़ी के निधन पर मंत्रिमंडल गहरा दुख व्यक्त करता है। उनके निधन से राष्ट्र ने एक प्रतिष्ठित नेता, शिक्षाविद, उत्कृष्ट सांसद और सक्षम प्रशासक खो दिया है।” इसमें कहा गया, ‘‘ मंत्रिमंडल, सरकार और पूरे राष्ट्र की ओर से शोकसंतप्त परिवार के प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त करता है।”

बेलगावी से चार बार सांसद रहे अंगड़ी का जन्म एक जून 1955 को कर्नाटक के बेलगावी जिले में केके कोप्पा गांव में हुआ था। बेलगावी के ‘एसएसएस समिति कॉलेज’ से स्नातक अंगड़ी ने ‘राजा लाखाम्गौदा लॉ कॉलेज’ से कानून की पढ़ाई की थी। वह भारतीय जनता पार्टी के सदस्य थे और 1996 में पार्टी की बेलगावी जिला इकाई के उपाध्यक्ष बने। इसके बाद उन्हें 2001 में भाजपा की बेलगावी जिला इकाई के अध्यक्ष के रूप में नामित किया गया और 2004 में बेलगावी लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से पार्टी के उम्मीदवार के तौर पर नामित होने तक इस पद पर बने रहे। उस साल चुनाव जीतने के बाद 2009, 2014 और 2019 में भी उन्होंने बेलगावी से लोकसभा चुनाव जीता। वह मई 2019 में रेल राज्य मंत्री बने।