nadda

नयी दिल्ली. खबरों के अनुसार भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) और महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) के काफिले पर तृणमूल यूथ कांग्रेस (TMC) द्वारा कथित हमले पर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने अब पश्चिम बंगाल सरकार (West Bebgal Goverment) से जवाब मांगा है। इसके साथ ही राज्य के मुख्य सचिव और डीजीपी को दिल्ली तलब किये गए हैं। सूत्रों के अनुसार खुद गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने पहले ही इस हमले को लेकर बंगाल DGP को फोन कर उनसे कई सवाल किए थे।

Courtsey: Vinod Kumar

इसी बीच आज पश्चिम बंगाल (West Bengal) में कानून व्यवस्था को लेकर राज्यपाल जगदीप धनखड़ (Jagdeep Dhankar) की ओर से भेजी गई रिपोर्ट आज केंद्र को प्राप्त हुई है। माना जा रहा है कि राज्यपाल ने पश्चिम बंगाल में कानून व्यवस्था की स्थिति और राजनीतिक हिंसा और अन्य अपराधों पर राज्य सरकार के रुख के बारे में विस्तृत रिपोर्ट दी है। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भांजे अभिषेक बनर्जी के लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र डायमंड हार्बर में बृहस्पतिवार को नड्डा के काफिले पर हुए हमले के बाद केंद्र ने राज्यपाल से रिपोर्ट तलब की थी।

इधर अपने रिपोर्ट भेज  गवर्नर जगदीप धनखड़ ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में ममता बनर्जी सरकार पर निशाना साधा। इसके साथ ही उन्होंने CM ममता बनर्जी को साफ़ तौर पर नसीहत दी कि, मुख्यमंत्री को इस तरह की आग से खेले तो बेहतर। गुरुवार को जो भी हुआ वह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण था और हमारे लोकतांत्रिक बुनियाद पर एक कलंक था। मुख्यमंत्री को संविधान का पालन करना चाहिए। उन्हें अपने पथ से नहीं भटकना चाहिए।”

इसके साथ ही राज्यपाल ने CM ममता से सवाल किया कि, “राज्य में कौन बाहरी है, इससे उनका क्या अभिप्राय है? क्या अब हर भारतीय नागरिक भी बाहरी हैं, ममता को इस तरह बयान से बचन चाहिए।” धनखड़ ने यह भी कहा कि, “भारत एक है उसका हर नागरिक एक सामान है। अगर आप इस रास्ते से भटकती हैं, तब वहीं से मेरे दायित्व की शुरुआत हो जाती है।”

वहीं इसके पहले स्वयं गृह मंत्री अमित शाह ने हमले को लेकर ट्वीट कर पूछा था कि, “बंगाल में BJP के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के ऊपर हुआ हमला बहुत ही निंदनीय है, उसकी जितनी भी निंदा की जाये वो कम है। केंद्र सरकार इस हमले को अब पूरी गंभीरता से ले रही है। बंगाल सरकार को अब इस प्रायोजित हिंसा के लिए प्रदेश की शांतिप्रिय जनता को जवाब देना होगा।”

गौरतलब है कि भाजपा अध्यक्ष नड्डा दो दिन के दौरे पर पश्चिम बंगाल पहुंचे थे।  अपने दौरे के दूसरे दिन नड्डा ममता बैनर्जी के भतीजे और सांसद अभिषेक बैनर्जी के संसदीय क्षेत्र डायमंड हार्बर में रैली को संबोधित करने जा रहे थे। तभी उस दौरान सड़क पर मौजूद टीएमसी कार्यकर्ताओं ने काफिले को घेर लिया और काले झंडे दिखाने लगे। कुछ लोग काफिले पर पत्थर और ईंट फेंकने लगे। अचानक हुई इस हमले में भाजपा अध्यक्ष नड्डा की गाडी तो बच गई, लेकिन पीछे आ रहे पार्टी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय की गाडी के कांच चकना चूर हो गया । इस दौरान कार में बैठे कैलाश, उनके ड्राइवर और पार्टी के राष्ट्रिय  उपाध्यक्ष मुकुल रॉय घायल हो गए थे। इस घटना का वीडियो अब भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।