UP government is troubling journalists and opposition leaders who reveal the truth: Priyanka Gandhi

नयी दिल्ली. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने वाराणसी में एक महिला पत्रकार के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज किए जाने को ‘शर्मनाक’ करार देते हुए शुक्रवार को आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार राज्य में ‘घोर अव्यवस्थाओं’ की सच्चाई सामने लाने वाले पत्रकारों, पूर्व अधिकारियों और विपक्षी नेताओं के खिलाफ मामले दर्ज करवा रही है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘उप्र सरकार एफआईआर करके सच्चाई पर पर्दा नहीं डाल सकती। जमीन पर इस आपदा के दौरान घोर अव्यवस्थाएं हैं।”

कांग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी ने आरोप लगाया, ‘‘सच्चाई दिखाने से इनमें सुधार संभव है, लेकिन उप्र सरकार पत्रकारों, पूर्व अधिकारियों, विपक्ष पर सच्चाई सामने लाने के लिए प्राथमिकी दर्ज करवा दे रही है। यह शर्मनाक है।” गौरतलब है कि समाचार पोर्टल ‘स्क्रोल’ की संपादक सुप्रिया शर्मा के खिलाफ वाराणसी के रामनगर थाने में प्राथमिकी दर्ज की गयी है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि यह प्राथमिकी वाराणसी के डोमरी गांव निवासी माला देवी द्वारा दी गई एक शिकायत के आधार पर दर्ज की गयी है। डोमरी गांव को प्रधानमंत्री द्वारा आदर्श ग्राम योजना के तहत गोद लिया गया है।