Surgical Gloves
File Photo

    नई दिल्ली: दिल्ली (Delhi) के द्वारका (Dwarka) इलाके में कथित तौर पर इस्तेमाल हो चुके सर्जिकल दस्ताने (Surgical Gloves) बेचने के मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार (Arrest) किया गया। पुलिस (Police) ने गुरुवार को बताया कि आरोपियों की पहचान 39 वर्षीय मनीष कुमार, 37 वर्षीय अरुण श्रीनिवासन और 28 वर्षीय दिनेश कुमार के रूप में हुई है।

    पुलिस ने बताया कि, प्राथमिक जांच से पता चला कि आरोपियों ने टिकरी इलाके के एक व्यापारी के जरिए कबाड़ बाजार और अस्पताल से इस्तेमाल हो चुके सर्जिकल दस्ताने खरीदे। व्यापारी को पकड़ने के प्रयास जारी हैं। पुलिस ने बताया कि डाबरी के थाना प्रभारी सुरेंद्र संधू के नेतृत्व में एक टीम ने डाबरी और बिंदापुर के दो गोदामों में मंगलवार को छापेमारी की और वहां से 848 किलोग्राम सर्जिकल दस्ताने जब्त किए।

    एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि इस्तेमाल हो चुके इन सर्जिकल दस्तानों को साफ कर और पैकेट में बंद कर फैक्ट्रियों, सैलून और होटलों में सस्ते दामों पर बेचा गया। पुलिस उपायुक्त (द्वारका) संतोष कुमार मीणा ने बताया कि मंगलवार को इस संबंध में एक मुखबिर के जरिए जानकारी मिली थी कि डाबरी और बिंदापुर की दो इमारतों में पहले से इस्तेमाल हो चुके दस्तानों को धोकर पैकेट में बंद किया जा रहा है।

    टीम ने इन स्थानों पर छापेमारी कर इस्तेमाल हो चुके 848 किलोग्राम दस्ताने बरामद किए। उन्होंने बताया कि भारतीय दंड संहिता की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने बताया कि आरोपी को बाद में उच्चतम न्यायालय के दिशानिर्देश के अनुसार जमानत पर छोड़ दिया गया।