Pic Credit : Twitter
Pic Credit : Twitter

    नई दिल्ली: विधनसभा चुनाव (Assembly Election) में अपने मैनफेस्टो के ऐलान से पहले तृणमूल कांग्रेस (Trinmool Congress) प्रमुख ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) की मुश्किलें बढ़ सकती है। चुनाव आयोग (Election Commission of India)  ने स्वता संज्ञान लेते हुए ममता द्वारा मंगलवार को पुरुलिया (Purulia) में किए मुफ्त राशन घर तक पहुंचाने के वादे को लेकर जिलाधिकारी से रिपोर्ट तलब की है। 

    आयोग ने अधिकारी से चुनावी सभा के दौरान रिकॉर्ड किए अनकट वीडियो मंगा है. जिससे पूरी तरह से जांच कर सके। इसी के साथ यह भी पता कर सके की चुनाव के ऐलान के पहले राज्य सरकार ने ऐसी कोई योजना शुरू की हुई है की नहीं या यह आचार संहिता का उल्लंघन है। 

    दरअसल, ममता बनर्जी ने पुरुलिया में एक चुनाव सभी को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने पिछले 10 साल में उनकी सरकार  क्या क्या किया उसकी जानकारी जनता को दी। इसी बीच उन्होंने राज्य की जनता को मुफ्त में घर तक पहुंचाने की नई योजना के बारे में भी लोगों को बताया। 

    कल जारी होगा घोषणापत्र 

    तृणमूल कांग्रेस बुधवार को अपना घोषणा पत्र जारी करने वाली है। जिसमें वह मुफ्त राशन देने वाली योजना का ऐलान कर सकती है। टीएमसी काफी पहले ही अपना घोषणा पत्र जारी करने वाली थी, लेकिन ममता के घायल हो जाने के वजह से इसे कुछ दिनों के लिए आगे बढ़ा दिया गया था।