PM मोदी का CM ममता पर बड़ा हमला, “माँ,माटी, और मानुष की बात करने वाले विकास में सबसे बड़ी बाधा”

    हुगली: पश्चिम बंगाल (West Bengal) में जल्द ही विधानसभा चुनाव (Assembly Election) होने वाले हैं। आगामी चुनाव में जीत के लिए भारतीय जनता पार्टी (Bhartiya Janta Party) ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। इसी क्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) सोमवार को बंगाल दौरे पर पहुंचे हैं। इस दौरान उन्होंने हुगली (Hooghly) में आयोजित सभा को भी संबोधित किया, जहां उन्होंने बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी प्रमुख ममता बैनर्जी (TMC President & CM Mamata Banerjee) पर जमकर हमला बोला। प्रधानमंत्री ने कहा, “माँ,माटी, और मानुष की बात करने वाले ही बंगाल के विकास में सबसे बड़ी बाधा है।”

    रेल और मेट्रो कनेक्टिविटी को मजबूत करने का काम शुरू 

    जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, “पिछली बार में आपको गैस कनेक्टिविटी का इंफ्रास्ट्रक्चर का उपहार देने आया था। आज रेल और मेट्रो कनेक्टिविटी को मजबूत करने वाले महत्वपूर्ण काम शूरू हो रहे हैं। थोडी देर में हुगली, पश्चिम बंगाल की  रेल और मेट्रो कनेक्टिविटी के कई प्रोजेकट का शिलान्यास और लोकार्पण होने वाला है।”

    उन्होंने कहा, “इसी तरह जो विशेष किसान रेल शुरू की गई है, उसका लाभ आज पश्चिम बंगाल के छोटे किसानों को बहुत तेजी से मिलना शुरू हो रहा है। अभी हाल ही में 100वीं किसान रेल महाराष्ट्र के संगोला से पश्चिम बंगाल के शालीमार तक चलाई गई।”

    पश्चिम बंगाल में संभावनाओं के नए द्वार खुल रहे

    पीएम मोदी ने कहा, “अब रेलवे को लेकर पश्चिम बंगाल में संभावनाओं के नए द्वार खुल रहे हैं। पूर्वी डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर का बड़ा लाभ पश्चिम बंगाल को होने वाला है। इसका एक हिस्सा चालू भी हो चुका है, बहुत जल्द पूरा कॉरिडोर खुल जाएगा। जिससे बंगाल में भी उद्योगों के लिए अवसर बनेंगे।”

    उन्होंने कहा, “हमारे देश में आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर का काम दशकों पहले हो जाना चाहिए था लेकिन हुआ नहीं। अब हमें देर नहीं करनी है। अब हमें एक पल भी रुकना नहीं है। इसलिए अब देश में आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर पर ध्यान दिया जा रहा है। निवेश किया जा रहा है।”

    ऐतिहासिक क्षेत्र को अपने ही हाल में छोड़ 

    प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “मुझे हैरानी है इतने वर्षों में जितनी भी सरकारें पश्चिम बंगाल में रहीं, उन्होंने इस ऐतिहासिक क्षेत्र को अपने ही हाल में छोड़ दिया। यहां के इंफ्रास्ट्रक्चर को, यहां की धरोहर को बेहाल होने दिया गया। वंदे मातरम भवन जहां बंकिमचंद जी 5 साल रहे, कहते हैं वो तो बहुत बुरे हाल में है। जिस कविता ने स्वतंत्रता संग्राम को जीवन का एक नया पट्टा दिया।”

    उन्होंने आगे कहा, “ऐसे ‘अमर गण’ के रचनाकार को अच्छे राज्य में रखने में विफलता पश्चिम बंगाल के गौरव के साथ अन्याय है और इसमें बहुत बड़ी राजनीति शामिल है – जो राजनीति वोट बैंक पर केंद्रित है, देशभक्ति पर नहीं; तुष्टिकरण, सबका साथ, सबका विकास नहीं।”

    भाजपा सोनार बंगाल का करेगी निर्माण 

    प्रधानमंत्री ने आगे कहा, “भाजपा उस सोनार बांग्ला के निर्माण के लिए काम करेगी, जिसमें यहां का इतिहास, यहां की संस्कृति दिनों दिन और मजबूत होगी। ऐसा बंगाल, जहां आस्था, आध्यात्म और उद्यम, सबका सम्मान होगा।” 

    उन्होंने कहा, “इस तरह की राजनीति बंगाल के लोगों को दुर्गा पूजा और दर्शन करने से रोकती है। बंगाल के लोग वोट बैंक की राजनीति के लिए अपनी संस्कृति का अपमान करने वालों को कभी माफ नहीं करेंगे।”

    टीएमसी के राज में गरीब और गरीब हुआ 

    पीएम मोदी ने टीएमसी सुप्रीमों ममता बनर्जी पर हमला बोलते हुए कहा, “मां-माटी-मानुष की बात करने वाले लोग बंगाल के विकास के सामने दीवार बनकर खड़े हो गए हैं। केंद्र सरकार किसानों और गरीबों के हक का पैसा सीधे उनके बैंक खाते में जमा करती है जबकि बंगाल सरकार की योजनाओं का पैसा TMC के टोलाबाजों के सहमति के बिना गरीब तक पहुंच ही नहीं पाता।” 

    उन्होंने कहा, “यही वजह है कि गांव-गांव में TMC नेताओं की शान बढ़ती जा रही और सामान्य परिवार गरीब से गरीब होता जा रहा है। बंगाल के लाखों किसान परिवारों को पीएम किसान सम्मान निधि का पैसा इसी मानसिकता के कारण नहीं मिल पाया है। उनके हक को यहां की सरकार में बैठे हुए लोगों ने छीन लिया है”

    TMC ‘बंगाल की बेटी’ के साथ अन्याय कर रही

    प्रधानमंत्री ने हर घर जल मुद्दे पर टीएमसी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा, “हर घर जल पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार ने 1700 करोड़ रुपए से ज़्यादा टीएमसी सरकार को दिए। लेकिन इसमें से सिर्फ 609 करोड़ रुपए ही यहां की सरकार ने खर्च किया है।”

    उन्होंने कहा, “बंगाल में 1-1.75 करोड़ घरों में से केवल 9 लाख में पानी की पाइपलाइन है। जिस तरह से राज्य सरकार काम करती है, कोई आश्चर्य नहीं कि गरीबों तक पानी पहुंचाने में कितने और साल लगेंगे। इससे पता चलता है कि TMC ‘बंगाल की बेटी’ के साथ अन्याय कर रही है। क्या उन्हें माफ किया जा सकता है ?”