mamata-banerjee

    नई दिल्ली: मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के कथित हमले को लेकर केंद्रीय चुनाव आयोग (Election Commission of India) द्वारा तैनात विशेष पर्यवेक्षकों ने अपनी रिपोर्ट  सौंप दी है। जिसके अनुसार ममता पर किसी भी तरह का हमला करने के सबूत नहीं मिले हैं। आयोग ने मुख्यमंत्री ममता द्वारा खुद पर हमला करने के दावे के बाद आयोग ने पश्चिम बंगाल (West Bengal) के पर्यवेक्षकों अजय नायर और विवेक दुबे से रिपोर्ट तालाब की थी। 

    इंडिया टुडे ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा कि, “आयोग के भेजे विशेष पर्यवेक्षकों ने शनिवार को अपनी रिपोर्ट चुनाव आयोग को दे दिया है। अपनी रिपोर्ट में दोनों पर्यवेक्षकों ने बताया कि ममता बनर्जी पर किसी भी तरह का हमले का कोई सबूत नहीं मिली है। उनके पैर पर चोट गाडी के दरवाजे से लगी है, ना की हमले से।” हालांकि, रिपोर्ट में यह नहीं बताई की दरवाजा कैसे बंद हुआ।

    आयोग कल करेगा फैसला 

    पर्यवेक्षकों के साथ राज्य के मुख्य सचिव ने भी अपनी रिपोर्ट चुनाव आयोग को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है। आयोग दोनों रिपोर्ट पर कल फैसला लेगा। इसके पहले मुख्य सचिव की भेजी रिपोर्ट से आयोग संतुष्ट नहीं था और उन्हें दूसरी रिपोर्ट देने का आदेश दिया था। 

    ज्ञात हो कि, बुधवार को नंदीग्राम में प्रचार के दौरान ममता बनर्जी घायल हो गई थी। उन्होंने पैरों में गहरी चोट आई, जिसके बाद उन्हें आनन फानन में कोलकाता लाया गया और यहां के एसएसकेएम अस्पताल में भर्ती कराया गया। प्रचार के दौरान लगी चोट को मुख्यमंत्री ने खुद पर हमला बताया था। उन्होंने पत्रकारों से कहा, “जब वह अपनी गाड़ी के नजदीक थी तो कुछ लोगों ने उन्हें धक्का दिया, जिसके कारण उनके पैर में चोट लग गई।4-5 लोगों ने गाड़ी एकदम बंद कर दी। बहुत चोट लग गई। वहां लोकल पुलिस से कोई नहीं था। किसी की साजिश जरूर है। यह जानबूझकर किया गया है।