RAPE

    राजगढ़: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के राजगढ़ से आ रहे एक हैरान करने वाले मामले को सुन हर कोई आश्चर्यचकित हैं। दरअसल यहां एक 35 साल की महिला ने एक 16 साल के नाबालिग का भरपूर यौन शोषण (Woman Arrested For Sexual Abuse Of Minor) किया। इतना ही नहीं इस बात का जब खुलासा हुआ तो महिला के पति और उसके परिवार वालों ने पीड़ित लड़के को बुरी तरह धमकाया और कहा कि अगर 1 लाख रुपये नहीं दोगे तो उसे और उसके परिवार को झूठे केस में फंसा देंगे।

    आरोपी महिला समेत 4 के खिलाफ दर्ज हुए केस : 

    कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पुलिस ने फिलहाल आरोपी महिला, उसके पति और सास-ससुर को अपनी गिरफ्त में ले लिया है। इतना ही नहीं पति और सास-ससुर के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा 384 (फिरौती मांगना) और धारा 427 के तहत भी मुकदमा दर्ज किया है। वहीं महिला के खिलाफ पॉक्सो एक्ट के तहत एक अलग केस दर्ज किया गया है।

    महिला के पति की अनोखी शर्त : 

    इस घटना पर राजगढ़ के S।P प्रदीप शर्मा ने कहा कि महिला ने एक नाबालिग लड़के का यौन शोषण किया है। आरोपी महिला और पीड़ित एक ही गांव के निवासी हैं। बीते 27 मई को आरोपी महिला के पति को जब इस गुप्त बात का पता चला तो उसने नाबालिग के परिवार से 1 लाख रुपये की मांग की और कहा कि अगर पैसे नहीं दिए तो वो उन्हें और उनके परिवार के अन्य सदस्यों को झूठे केस में फंसा देगा।

    उजाड़ दी फसल :

    इसके बाद उन्होंने आगे कहा कि जब पीड़ित नाबालिग के परिजनों ने 1 लाख रुपये देने से साफ़ मना कर दिया तो आरोपी महिला के पति और ससुर ने उनकी फसल को पूरी तरह से उजाड़ दी और पपीते का पेड़ भी काट दिया। इसके बाद जब पीड़ित ने चाइल्ड हेल्पलाइन से संपर्क किया तो बीते सोमवार को काउंसलर मनीष डांगी ने नाबालिग से बात की। इस मुद्दे पर डांगी ने बताया कि, “युवक को अपनी बदनामी होने का भी डर था। जिसके चलते उसने यह बात उसने किसी और के साथ शेयर नहीं की थी। लेकिन जब महिला के परिवार वाले उसके परिजनों के साथ बदसलूकी करने लगे, तब उसने हिम्मत जुटाते हुए हेल्पलाइन पर फोन किया। फिलहाल हम अभी भी उसकी काउंसलिंग कर रहे हैं।” खबर लिखने तक मामले की जांच जारी है।