Karnataka Chief Minister Yeddurappa

बंगलुरु: भाजपा नीत कर्नाटक सरकार की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. कुमारस्वामी सरकार गिराने वाले विधायक अबयेडियुरप्‍पा सरकार को धमकी दे रहे हैं. पूर्व सरकार में विधायक रहे और

बंगलुरु: भाजपा नीत कर्नाटक सरकार की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. कुमारस्वामी सरकार गिराने वाले विधायक अब येडियुरप्‍पा सरकार को धमकी दे रहे हैं. पूर्व सरकार में विधायक रहे और वर्तमान में मंत्री रमेश जारकीहोली ने अपने साथी विधायक महेश कुमताहल्‍ली को मंत्री नही बनाए जाने पर विधायक के साथ मंत्री पद से इस्तीफ़ा देने कि धमकी दी हैं. दोनों नेताओं ने कुमारस्वामी सरकार से समर्थन वापस लेकर भाजपा की टिकट पर उपचुनाव जीता हैं. 

बतादें कि, तत्कालीन कुमारस्वामी सरकार से 17 विधायको ने समर्थन वापिस लेते हुए विधायक पद से इस्तीफ़ा दे दिया था. जिसके कारण कुमारस्वामी अल्पमत में आगई और विधानसभा में गिर गई. जिसके बाद 15 सीटो पर हुए उपचुनाव में सभी विधायकों ने भाजपा की टिकट पर चुनाव लड़ा. इन चुनाव में भाजपा ने 15 सीट मेसे 13 सीट पर जीत हासिल की. इन जीते हुए विधायकों से 11 विधायकों को मंत्री बनाया गया. जिसमे रमेश जारकीहोली भी हैं. 

मंत्री पद नहीं मिला तो इस्तीफ़ा
मंत्री रमेश जारकीहोली ने येडियुरप्‍पा को धमकी देते हुए कहा, " महेश कुमताहल्‍ली के वजह से राज्य में भाजपा ने सरकार बनाई हैं. उन्हें सही सम्मान मिलना ही चाहिए." उन्होंने कहा, " अगर मुख्यमंत्री ने उन्हें मंत्री नहीं बनाया तो वह मंत्री पद के साथ विधायकी से भी इस्तीफ़ा देदेंगे." 

मुझे कोई नाराज़गी नही
वहीँ इस मामले पर बोलते हुए विधायक महेश कुमताहल्‍ली ने कहा, " मै नाराज़ नहीं हूँ. यह सब अफवाह हैं." उन्होंने कहा, " मेरे इलाके में पानी कि समस्या थी, जिसपर काम शुरू होगया हैं. सिंचाई कि समस्या हल होगई हैं.

भाजपा की सफाई 
इस मसले पर भाजपा ने सफाई देते हुए कहा कि," लिंगायत समुदाय से ताल्लुख रखने वाले महेश कुमताहल्‍ली, उत्तर कर्नाटक से हैं. उनके समुदाय के साथ न्याय करते हुए हमने सरकार में अच्छा स्थान दिया हैं. उनके इलाके की समस्या को हल करने का काम शुरू कर दिया गया हैं."