नड्डा के काफिले पर हमले को लेकर गृह मंत्रालय गंभीर, राज्यपाल से मांगी रिपोर्ट

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल के डायमंड हार्बर (Diamond Harbor) में भाजपा (BJP) अध्यक्ष जेपी नड्डा (J P Nadda) के काफिले पर हुए हमले को लेकर गृह मंत्रालय (Central Home Ministry) गंभीर हो गया है गुरुवार को मंत्रालय ने बंगाल के राज्यपाल को पत्र लिखकर राज्य के कानून व्यवस्था को लेकर जानकारी मांगी है इसी के साथ राज्य के मुख्य सचिव को नड्डा को पूरी सुरक्षा देने का आदेश दिया है। 

क्या है मामला?

भाजपा अध्यक्ष नड्डा दो दिन के दौरे पर पश्चिम बंगाल पहुंचे हैं। अपने दौरे के दूसरे दिन नड्डा ममता बैनर्जी के भतीजे और सांसद अभिषेक बैनर्जी के संसदीय क्षेत्र डायमंड हार्बर में रैली को संबोधित करने जारहे थे। इस दौरान सड़क पर मौजूद टीएमसी कार्यकर्ताओं ने काफिले को घेर लिए और काले झंडे दिखाने लगे। 

इसी दौरान वह भीड़ में मौजूद कुछ लोगों ने काफिले पर पत्थर और ईंट फेंकने लगे. अचानक हुई इस हमले में नड्डा की गाडी बच गई, लेकिन पीछे आरहे पार्टी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय की गाडी के कांच चकना चूर हो गए। इस दौरान कार में बैठे कैलाश, उनके ड्राइवर और पार्टी के रष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय घायल हो गए।  

यह भाजपा की नौटंकी 

नड्डा के काफिले पर हमले को टीएमसी प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी ने नौटंकी बताया है. राजधानी कोलकाता में एक आयोजित रैली को संबोधित करते हुए ममता ने कहा, “भाजपा) कोई और काम नहीं है। कई बार गृह मंत्री यहां होते हैं, अन्य बार इनके चड्ढा, नड्डा, फड्डा, भदहा यहां होते हैं। जब उनके पास कोई दर्शक नहीं होता है, तो वे अपने कार्यकर्ताओं को नौटंकी करने के लिए कहते हैं।”

सुरक्षाकर्मी होते हुए  हमला कैसे?

बैनर्जी ने आगे कहा, “आपके साथ सुरक्षाकर्मी हैं। कोई आप पर हमला कैसे कर सकता है? राज्य के आधार पर, आप केंद्रीय बल पर निर्भर रहते हैं। हमले की योजना बनाई गई हो सकती है, मैंने पुलिस से जांच करने को कहा है लेकिन मैं हर समय झूठ नहीं बोलूंगी।”