indian airforce
File photo

    नई दिल्ली/अंबाला. सुबह कि बड़ी खबर के अनुसार, अग्निपथ भर्ती योजना (Agnipath Recruitment Scheme) के लिए जहां भारतीय वायुसेना (IAF) की ओर से जारी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन (Online Registration) की प्रक्रिया पूरी की जा चुकी है। बता दें कि, इस बार वायुसेना के अनुसार पूर्व में भर्ती के लिए 6,31,528 आवेदन आए थे जबकि इस बार शानदार  7,49,899 आवेदन मिले हैं।

    गौरतलब है कि यह वायुसेना की किसी भी भर्ती के लिए आए आवेदनों में अब तक की सबसे बड़ी संख्या है। हालांकि अब भी हरियाणा के अनेकों युवा अग्निपथ योजना से नाखुश हैं और इसे जल्द ही रद्द करने की मांग कर रहे हैं। 

    दरअसल हरियाणा (Haryana) देश के उन राज्यों में से एक है, जहां से डिफेंस सर्विसेज में आफीसर कैडर और रैंक दोनों में बड़ी संख्या में युवक भर्ती होते हैं। वहीं इन्फैंट्री की जाट रेजिमेंट में खास तौर पर इस राज्य के अनेकों मेहनती युवक जाते हैं। लेकिन अब इन युवकों के नाखुश होने का कारण बताते हुए कहा कि, इन लोगों ने 15-16 साल की उम्र से सेना में भर्ती के लिए तैयारी शुरू कर दी थी। सरकार की अग्निपथ योजना की घोषणा के बाद से यहां अभ्यास करने वाले उम्मीदवारों की संख्या में कमी आई है। 

    हालाँकि मई 2022 के CMIE के आंकड़ों को देखें तो, हरियाणा में बेरोजगारी अब बहुत बढ़ चुकी है। फिलहाल इस राज्य में बेरोजगारी दर 24।6% है, जो कि देश में सबसे अधिक है। वहीँ अब राज्य की ओर से संचालित भर्ती प्रक्रियाओं में परीक्षाओं के पेपर लीक होने या परीक्षा रद्द किए जाने के कई मामले सामने आ चुके हैं। देखा जाए तो हरियाणा के मेहनती युवा सशस्त्र बलों में बड़ी संख्या में भर्ती होते हैं और सेना में जाने की आस लगाए रहते हैं। लेकिन वे अब अग्निपथ भर्ती योजना के खिफ हैं और इसे बंद करने की मांग कर रहे हैं।