All Indian players return home to create history in Tokyo Olympics, a grand welcome at the airport

    नई दिल्ली: टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) में इतिहास रच कर भारतीय खिलाड़ी (Indian Players) स्वदेश लौट आए हैं।  खिलाड़ियों का राजधानी दिल्ली (National Capital Delhi) के इंदिरा गांधी अंतरष्ट्रीय हवाईअड्डे (Indira Gandhi International Airport) पर भव्य स्वागत किया गया। हवाईअड्डे के बाहर लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा है, आम जनता, खिलाड़ियों के परिवारवाले और मीडिया कर्मी बैंड-बाजे के साथ अपने पदक वीरों का स्वागत कर रहे हैं। 

    अशोका होटल में होगा सम्मान समारोह 

    टोक्यो से लौटी भारतीय खिलाडियों के स्वागत के लिए केंद्र सरकार ने भी अपनी पूरी तैयारी कर चुकी है। सभी खिलाड़ी भारत लौटने के बाद होटल अशोक पहुंचेंगे, जहां सभी का सम्मान किया जाएगा। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता खुद खेल मंत्री अनुराग ठाकुर करने वालें हैं।

    तेजस्वी सूर्य ने नीरज चोपड़ा का किया स्वागत 

    भाला फेंक में स्वर्ण पदक जितने वाले नीरज चोपड़ा का स्वागत करने भारतीय जनता युवा मोर्चा के अध्यक्ष और सांसद तेजस्वी सूर्य एअरपोर्ट पहुंचे हैं सूर्य ने नीरज को गुलदस्ता देकर स्वागत किया

    ज्ञात हो कि, भारत के ओलंपिक इतिहास में टोक्यो ओलंपिक सबसे सफल रहा है। भारत में पहली बार सात मेडल जीता है। जिसमें एक गोल्ड, दो सिल्वर और चार कांस्य पदक है इसी के साथ पहली बार एथेलेटिक्स में गोल्ड पर कब्ज़ा किया है

    इन खिलाड़ियों ने जीता मेडल 

    ओलंपिक की शुरुआत में भी महिला वेटलिफ्टिंग में मीराबाई चानू (MeeraiBai Chanu) ने सिल्वर जीत कर भारत का खाता खोला था। उसके बाद बॉक्सिंग में लवलीना (lavlina) ने महिला बॉक्सिंग में कांस्य पदक पर कब्ज़ा किया। भारत की स्टार बैडमिन्टन खिलाड़ी पीवी सिन्धु (PV Sindhu) ने भी कांस्य पदक जीता। वहीं कुश्ती में स्टार पहलवान बजरंग पुनिया (Bajrang Puniya) और रवि दहिया (Ravi Dahiya) ने क्रमशः कांस्य और रजत पदक जीता। वहीं भाला फेंक में नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopda) ने इतिहास रचते हुए गोल्ड पर कब्ज़ा कर लिया। भारतीय हॉकी टीम (Indian hockey team) ने 41 साल का सुखा ख़त्म करते हुए कांस्य पदक अपने नाम किया।