5 member team will come from Delhi to Mumbai to investigate the allegations of Prabhakar Sail, a witness in the cruise drugs case
Photo:ANI

    मुंबई: बॉलीवुड (Bollywood) सुपरस्टार शाहरुख खान (Shah Rukh Khan) के बेटे आर्यन खान (Aryan Khan) के खिलाफ चल रहे ड्रग केस (Drugs Case) में पंच बनाए गए प्रभाकर सेल (Prabhakar Sail) मुंबई पुलिस (Mumbai Police) कमिश्नर ऑफिस पहुंचे हैं। उन्होंने इससे पहले एक हलफनामा देकर कई चौंकाने वाले खुलासे किए थे। इतना ही नहीं पंच प्रभाकर ने NCB के जोनल प्रमुख समीर वानखेड़े और दूसरे गवाह केपी गोसावी के खिलाफ भी कई बड़े आरोप लगाए हैं। बताया जा रहा है कि, प्रभाकर सेल मुंबई पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों से मिलने पहुंचे हैं। वहीं इस मामले में अब एनसीबी कई गंभीर सवालों के घेरे में आ गई है।

    आरोप लगाने वाला प्रभाकर खुद को केपी गोसावी का बॉडीगार्ड भी बता रहा है। केपी गोसावी वही शख्स है जिसकी तस्वीर आर्यन खान के साथ वायरल हुई थी। दरअसल प्रभाकर ने आरोप लगाया है कि, उसने केपी गोसावी और सैम नाम के शख्स को 25 करोड़ रुपये की एक बात करते सुना था और 18 करोड़ रुपये में उनकी बात बन गई थी, ऐसा भी उसने कहते सुना है।

    वहीं प्रभाकर का दावा है कि गोसावी और सैम ने कथित तौर पर 18 में से 8 करोड़ रुपये NCB अधिकारी समीर वानखेड़े को भी देने की बात कही थी।इसके साथ ही प्रभाकर का यह भी दावा है कि क्रूज पर छापेमारी के बाद शाहरुख खान की मैनेजर पूजा डडलानी के साथ केपी गोसावी और सैम को नीले रंग की एक मर्सिडीज कार में एकसाथ करीब 15 मिनट तक बात करते देखा था। प्रभाकर ने कहा कि उसके बाद गोसावी ने उसे फोन किया था और बतौर पंच बनने को भी कहा था।

    उसने बताया है कि NCB ने उससे करीब 10 सादे कागज पर उसके साइन करवाए थे। सेल को अब शक है कि, इन पेपर्स का दुरुपयोग किया जा सकता है। प्रभाकर ने रविवार को बड़ा दावा करते हुए कहा कि, उसने लाखों रुपये नकदी से भरे 2 बैग गोसावी को दिए थे। घटना बाबत प्रभाकर सेल ने दावा किया कि, बीते 1 अक्टूबर की रात 9 बजकर 45 मिनट पर गोसावी ने फोन कर 2 अक्टूबर की सुबह 7:30 बजे तक तैयार होने और उसे एक स्थान पर पहुँचने को कहा था।

    उसने यह भी दावा किया कि, गोसावी ने उसे कुछ जरुरी फोटोग्राफ दी थीं और ग्रीन गेट पर उन लोगों की पहचान करने को कहा था, जो उस फोटो में थे। उधर, इस मुद्दे पर नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के अधिकारी समीर वानखेड़े ने मामले में किसी भी तरह की कोई भी गड़बड़ी से साफ़ इनकार करते हुए कहा है।