sarma

    नई दिल्ली/गुवाहाटी. दोपहर कि एक रोचक खबर के अनुसार असम (Assam) के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा (CM Himanta Biswa Sarma) उस समय बहुत बिगड़े जब उनके  काफिले के लिए जामरहित और सुरक्षित रास्ता दिलाने के लिए जब जिलाधिकारी ने ट्रैफिक रुकवा दिया और वहां बड़े पैमाने पर जाम लग गया। यह देख गुस्से में तमतमाए खुद मुख्यमंत्री अधिकारी पर बिफर पड़े। जिला कलेक्टर के आदेश के बाद ट्रैफिक जाम होने से  CM सरमा ने उन्हें जमकर फटकार भी लगाई।

    दरअसल असम के मुख्यमंत्री द्वारा “VIP संस्कृति” को बढ़ावा देने के लिए अधिकारी को फटकार लगाने वाले इस घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर अब जमकर वायरल हो रहा है। उक्त विडियो साफ़ में दिख रहा है कि मुख्यमंत्री अपने लाव लश्कर के साथ जा रहे हैं, तभी उन्हें भयंकर ट्रैफिक जाम दिखता है। इसे देखकर वह बुरी तरह से बिफर पड़ते हैं। अगर वीडियो देखें तो उसमे साफ़ सुना जा सकता है कि CM गुस्से में  जिला कलेक्टर से कह रहे हैं, “डीसी साहब ये क्या नाटक है? गाड़ी क्यों रुकवाया है? कोई राजा, महाराजा आ रहा है क्या? ऐसा मत करो। लोगो को कष्ट हो रहा है। पहले इनकी गाड़ी जाने दो।”

    इसके बाद CM का आदेश मिलते ही वहां ट्रैफिक शुरू होता है। वहीं यह घटना असम के नगांव जिले के गुमोथा गांव के पास राष्ट्रीय राजमार्ग 37 पर हुई जब उपायुक्त (डीसी) निसर्ग हिवारे ने सुरक्षा कारणों से यातायात रोकने का एक आदेश दिया था। लेकिन जब मुख्यमंत्री वहां पहुंचे तो उन्होंने बढ़ते जाम को देख अपनी गाड़ी रोककर कारण जानने के लिए नीचे उतर गए। 

    इधर जाम लगने के चलते मुख्यमंत्री उपायुक्त पर नाराज हो गए और ट्रैफिक रोकने का आदेश देने पर अधिकारी पर वहीं जोर जोर से चिल्लाने लगे। बाद में उन्होंने कहा कि राज्य में VIP संस्कृति की अनुमति नहीं दी जाएगी।